पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इलेक्शन:पंचायत चुनाव में ईवीएम व बैलेट पेपर में नहीं होगा नोटा का विकल्प, करना ही पड़ेगा वोट

खगड़िया16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 9 चरणों में पूरा होगा चुनाव, अभी दूसरे चरण का परबत्ता प्रखंड में आज तक होगा नामांकन

पंचायत आम निर्वाचन को शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं भयमुक्त माहौल में संपन्न कराने को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह तैयारी में जुट गई है। समय-समय पर राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिया जा रहा है। जिसके आलोक में जिला प्रशासन कार्य कर रही है। जानकारी के अनुसार पंचायत चुनाव में जिला पार्षद, पंसस, मुखिया, वार्ड सदस्य का वोटिंग ईवीएम से होगा और सरपंच एवं पंच के बैलेट पेपर से मतदान कराया जाएगा। इस दौरान इसबार ईवीएम एवं बैलेट पेपर में नोटा का ऑप्शन नहीं दिखेगा। लिहाजा मतदाता नोटा का डायरेक्ट प्रयोग नहीं कर सकेंगे। जानकारों का कहना है कि अगर कोई मतदाता वोट देने के लिए बूथ पर जाएंगे तो नोटा का ऑप्शन नहीं मिलेगा और किसी एक पद के प्रत्याशी को वोट देने के बाद किसी भी या अन्य पद पर मतदान नहीं करना चाहेंगे तो उन्हें पीठासीन पदाधिकारी के पास शिकायत रजिस्‍टर्ड कराना है। पीठासीन पदाधिकारी के अनुमति के बाद वे वोट नहीं दे सकेंगे। जिला निर्वाचन शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचायत आम निर्वाचन में नोटा का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। पिछले चुनाव में भी नोटा का प्रयोग नहीं हुआ था। चुनाव के संदर्भ में राज्य निर्वाचन आयोग से प्राप्त निर्देश के आलोक में कार्य किया जा रहा है।
-जिला पार्षद, पंसस, मुखिया और वार्ड सदस्य के लिए अलग-अलग होगा ईवीएम
पंचायत चुनाव के मतदान में इसबार दो प्रकार से वोटिंग कराया जाएगा। इसके लिए ईवीएम और बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जाएगा। जानकारों की माने तो मुखिया, पंसस, वार्ड सदस्य व जिला पार्षद के लिए अलग-अलग ईवीएम का प्रयोग किया जाएगा और सरपंच एवं पंच पद के लिए बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके लिए ईवीएम मशीन का चार बैलेट यूनिट और कंट्रोल यूनिट का इस्तेमाल किया जाएगा।
लोकसभा व विधान सभा आम निर्वाचन के वोटिंग में ईवीएम से कराया जाता है। जिस में चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों के चुनाव चिन्ह के बाद एक नोटा का भी बटन रहता है। इस सूरत में मतदाता वोटिंग के दौरान मनपसंद प्रत्याशी नहीं होने या अन्य कारणों से नोटा का प्रयोग डायरेक्ट करते है। लेकिन पंचायत चुनाव इस बार पहली आर ईवीएम का प्रयोग किया जा रहा है। मगर इसमें नोटा का ऑप्शन नहीं होगा।

अनुमंडल के 2425 लोग पंचायत चुनाव में उत्पन्न कर सकते हैं गड़बड़ी, चिह्नित कर की गई निषेधात्मक कारवाई

गोगरी | पंचायत चुनाव में शांति व विधि व्यवस्था बनाए रखने को लेकर स्थानीय प्रशासन पूरी तरह चौकस नजर आ रहे है। पंचायत चुनाव के दौरान शांति व विधी व्यवस्था बनी रहे, इसको लेकर पुलिस प्रशासन द्वारा 107 की कार्रवाई पर भी जोर दिया जा रहा है। गोगरी अनुमंडल में शांति भंग करने संदेह को लेकर विभिन्न थानों के चिन्हित कुल 2425 लोगों पर निषेधात्मक 107 की कार्रवाई की गई है। जिसमें सर्वाधिक परबत्ता थाना क्षेत्र के 553 लोगों पर 107 की कार्रवाई की गई है। जबकि दूसरे नंबर पर परसाहा थाना के 524 लोग व तीसरे नंबर पर महेश खूंट थाना के 503 लोगों पर कार्रवाई की गई है। जबकि गोगरी थाना के 291, भरत खंड ओपी के 216, मडैया ओपी के 187 लोगों पर 107 की कार्रवाई की गई है। हालांकि पौरा ओपी से किसी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। एसडीओ अमन कुमार सुमन ने बताया विभिन्न थानों से प्राप्त 2425 प्रतिवेदन में सभी को नोटिस जारी किए गए 462 लोगों पर धारा 116 (3) के अन्तर्गत गत दिनों तक लागू रहेगा। वहीं 16 लोगों पर प्रतिवेदित किया गया है। उन्होंने कहा यह कार्रवाई एहतियातन चिन्हित लोगों पर की जाती है, जिनसे शांति या विधि व्यवस्था बिगड़ने की संभावना रहती है।

चुनाव प्रचार और नामांकन में प्रत्याशी के साथ 5 लोगों को ही रहना होगा
खगड़िया। परबत्ता प्रखंड के 12 पंचायतों में दूसरे चरण में होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर नामांकन जारी है। हालांकि रविवार को छुट्‌टी होने के कारण सभी कार्यालय बंद रहे और नामांकन कार्य भी नहीं हुए। यहां दूसरे चरण के लिए नामांकन की आज अंतिम तिथि है। बताते चलें कि नॉमिनेशन के दौरान परबत्ता प्रखंड मुख्यालय पर कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। जबकि, आयोग द्वारा जिला निर्वाचन पदाधिकारी एवं प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी को कोरोना नियमों के अनुपालन करवाने की सख्त हिदायत दी गई है। आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक नामांकन के साथ-साथ चुनाव प्रचार के दौरान भी प्रत्याशी के साथ अधिकतम पांच लोग ही रह सकते हैं। इससे अधिक लोग साथ रहने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई किए जाने का प्रावधान किया गया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि पांच से अधिक लोग रहने पर आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा। मगर यहां इसका कोई पालन नहीं हो रहा है।

20 को राजद प्रखंड अध्यक्ष के लिए होगा प्रशिक्षण शिविर
खगड़िया | राजद प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर रविवार को राजद जिला अध्यक्ष कुमार रंजन पप्पू के नेतृत्व में जिले के तमाम राजद प्रखंड अध्यक्ष, नगर अध्यक्ष एवं जिला के प्रधान महासचिव की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। बैठक में आगामी 20 सितंबर को प्रखंड अध्यक्षों के लिए एक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन प्रदेश नेतृत्व के द्वारा किया जाएगा। सभी प्रखंड अध्यक्षों को इसकी जानकारी दी गई। साथ ही जिले में राजद को और अधिक मजबूत करने के लिए तमाम प्रखंड अध्यक्षों को जोर शोर से मजबूती के साथ संगठन पर काम करने का आग्रह किया गया।

खबरें और भी हैं...