लापरवाही:स्थानांतरित 4 पंचायत सचिवों ने 8 पंचायतों का लंबे समय बाद भी नहीं सौंपा है प्रभार

चाैथम18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नव पदस्थापित सचिवों ने कहा- आधा अधूरे प्रभार सौंपने जुगत में हैं सभी
  • प्रभार नहीं सौपें जाने से पंचायतों कार्य पूर्णत: ठप

चौथम प्रखंड के तात्कालीन स्थानांतरित चार पंचायत सचिवों ने आठ पंचायतों का प्रभार लम्बे अर्से से नव पदस्थापित पंचायत सचिवों को नहीं सौंप रहे हैं। जब कि प्रखंड विकास पदाधिकारी ने सभी पंचायत सचिवों को नव पदस्थापित पंचायत सचिवों को प्रभार सौंपने के लिए कई बार स्मार पत्र दे चुके हैं। फिर भी तात्कालीन पंचायत सचिव प्रभार सौंपने से कतरा रहें है। नव पदस्थापित सचिवों ने बताया कि इन आठ पंचायतों के पंचायत सचिव ने आधा अधूरे प्रभार सौंपने जुगत में हैं। ताकि पंचायत योजनाओं में बरती गई अनियमितता उजागर नहीं हो सके। इन्हीं आशंकाओं को लेकर नव पदस्थापित पंचायत सचिव प्रभार लेने से कतरा रहें हैं। स्थानांतरण के लंबे अर्से बीत जाने के बावजूद पंचायतों का प्रभार अधर में अटका है। तेरह पंचायतों में आठ पंचायतों का प्रभार पूर्व के पंचायत सचिवों द्वारा नहीं दिया जा रहा है।

लंबे अर्से से अधर में अटका है 8 पंचायत का प्रभार
पूर्व के पंचायत सचिव देवानंद ने चौथम एवं पूर्वी बौरणय का प्रभार सौंपने में आनाकानी कर रहे हैं। केडी दास के द्वारा नीरपुर, पिपरा,एवं हरदिया पंचायतों का प्रभार नहीं सौंपा है। वहीं कामता प्रसाद ने मध्य बौरणय पंचायत का प्रभार लम्बे अर्से बीत जाने के बाद भी नहीं सौंप है। पंचायत सचिव सहमत ने धुतौली एवं ठुठ्ठी मोहनपुर का प्रभार आज तक नहीं सौंपा है। अब तक केवल पांच पंचायतों का प्रभार सौंपा गया है। आठ पंचायतों का प्रभार लंबे अर्से से अधर में अटका है। प्रभार से वंचित पंचायतों की जनताओं की राय जाने तो इन पंचायतों की योजनाओं की उच्चस्तरीय जांच कराई जाय तो बरती गई तो अनियमितता उजागर हो सकती है ।

खबरें और भी हैं...