पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खगड़िया में रफ्तार ने ली 2 की जान:ममेरे भाई को नवगछिया छोड़ने जा रहा था युवक, तभी ट्रक ने मारी टक्कर; दोनों की मौत

खगड़िया10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद रोते-बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद रोते-बिलखते परिजन।

खगड़िया में सड़क हादसे में ममेरे-फुफेरे दो भाईयों की मौत हो गई। हद तो तब हो गई कि दोनों की लाश की करीब 12 घंटे तक पोस्टमाॅर्टम के लिए सदर अस्पताल में पड़ी रही। इस बात की भनक अस्पताल प्रशासन तक को नहीं लगी। प्रशासन की लापरवाही से परिजन और स्थानीय लोगों में आक्रोश है। लोग जिम्मेदारों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

दरअसल, पसराहा थानाक्षेत्र के देवठा चौक के समीप एनएच 31 पर बीते मंगलवार देर रात बाइक सवार दो युवक किसी ट्रक की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। आनन-फानन में स्थानीय लोगों और पुलिस की मदद से दोनों घायल को सदर अस्पताल खगड़िया लाया गया। जहां से बेहतर इलाज के लिए एक को बेगूसराय और दूसरे को भागलपुर भेज दिया गया, लेकिन रास्ते में ही दोनों की मौत हो गई। रात में ही दोनों का शव सदर अस्पताल लाया गया।

पूरी रात परिजन खुले आसमान के नीचे शव के साथ सदर अस्पताल में पोस्टमाॅर्टम का इंतजार करते रहे, मगर अस्पताल प्रशासन और स्थानीय थाना पुलिस इसके लिए आगे नहीं आए। बुधवार सुबह 10 बजे तक शव का पोस्टमाॅर्टम नहीं हो पाया था, जबकि परिजनों की भीड़ वहां जुटी रही।

बाइक से नवगछिया छोड़ने जा रहा था

मंगलवार देर रात जिले के बेलदौर थाना क्षेत्र स्थित सुखाय बासा निवासी मो जमीर बाइक से अपने ममेरे भाई मो नजरूल को भागलपुर जिले के नौगछिया स्थित उसके घर पर छोड़ने जा रहा था। तभी पसराहा के समीप हादसा हो गया। हादसे में दोनों भाई बुरी तरह जख्मी हो गए थे।

परिजनों ने की मुआवजे की मांग

इधर, सदर अस्पताल पहुंचे दोनों के परिजनों ने जिला प्रशासन से उचित मुआवजा देने की मांग की। DM डॉ. आलोक रंजन घोष ने हादसे में दोनों युवकों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए परिजनों को मुआवजा देने का आश्वासन दिया है।

खबरें और भी हैं...