सुनवाई:आर्म्स एक्ट के दाे धाराओं में अपराधी को तीन व दो वर्ष की सजा, 54 हजार रुपए अर्थदंड भी

खगड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खगड़िया व्यवहार न्यायालय के एडीजे द्वितीय एवं विशेष न्यायालय ने सुनाई सजा

व्यवहार न्यायालय के एडीजे द्वितीय एवं विशेष न्यायालय उत्पाद अली अहमद की कोर्ट ने एक अपराधी को सजा सुनाई है। कोर्ट ने उसे उत्पाद अधिनियम धारा 37 बी के लिए 50 हजार अर्थदंड जमा करने या 3 माह कैद की सजा सुनाई है वहीं आर्म्स एक्ट के दो अलग अलग धाराएं क्रमशः 25 (1-बी) (ए) और 26 (1) में 3 वर्ष कैद और 3000 अर्थदंड एवं 2 वर्ष कैद के साथ 1000 अर्थदंड भरने की सजा दी है। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि उक्त सभी सजाएं एक साथ चलेगी। अगर अर्थदंड नहीं भरी जाती है तो उस स्थिति में बंदी को सभी सजा अलग अलग काटनी होगी।

नशे की हालत में हथियार के साथ धराया था कुख्यात
बीते वर्ष 18 फरवरी 2919 को परबत्ता थाना क्षेत्र के बरपनियां बहियार के पास गुप्त सूचना पर की गई कार्रवाई में उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी थी, जिस समय पुलिस ने 7 वर्षों से फरार कुख्यात अपराधी श्रीरामपुर ठूठी गांव निवासी स्व. रामानुज सिंह के पुत्र रामपुकार को गिरफ्तार कर लिया। जिसके पास से पुलिस ने 2 लोडेड देशी कट्टा और 2 दर्जन से अधिक गोली बरामद की थी। इस संबंध में परबत्ता थाना में कांड संख्या 53/19 दर्ज किया गया था। बताया जाता है कि अपराधी शराब के नशे में भी था। बता दें कि रामपुकार सिंह पर कई संगीन मामले दर्ज हैं जिसमे हत्या, धमकी सहित अन्य मामले शामिल है। सोमवार को सुनाई गई सजा के समय बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता जयकांत चौधरी और अभियोजन पक्ष से विशेष लोक अभियोजक उत्पाद प्रियरंजन कुमार मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...