कोरोना से बचाव:कोविड से सुरक्षा के लिए वैक्सीनेशन सबसे कारगर उपाय, सतर्कता व सावधानी जरूरी

खगड़िया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सदर प्रखंड में महिला को दूसरे डोज की वैक्सीन लगाती एएनएम। - Dainik Bhaskar
सदर प्रखंड में महिला को दूसरे डोज की वैक्सीन लगाती एएनएम।
  • संभावित तीसरी लहर को देखते हुए जिले में तेज हुई कोविड जांच और वैक्सीनेशन अभियान

कोविड से सुरक्षा और इस घातक महामारी के प्रभाव को खत्म करने के लिए वैक्सीनेशन सबसे कारगर उपाय है, पर इसके साथ सतर्कता और सावधानी भी बेहद जरूरी है। इसलिए, जो भी व्यक्ति अबतक किसी कारणवश वैक्सीन नहीं ले पाएं हैं, वह जल्द से जल्द वैक्सीनेशन कराएं। वहीं जो पहला डोज लेने के बाद दूसरा डोज लेने की निर्धारित समयावधि पूरा कर चुके हैं, वह भी निर्धारित समय पर वैक्सीन लें। इसके साथ सतर्कता और सावधानी भी जारी रखें और इस घातक महामारी के खतरे से दूर रहें। उक्त बातें सिविल सर्जन डॉ अमरनाथ झा ने कही। इसके साथ उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द शत-प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने को लेकर जिले में लगातार वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। साथ ही संक्रमण का खतरा उत्पन्न नहीं हो, इसके मद्देनजर कोविड जांच अभियान भी तेज कर दिया गया है। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग हर जरूरी कदम भी उठा रहा है। मिशन, सिर्फ एक ही जल्द से जल्द शत-प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने और इस घातक महामारी के प्रभाव को खत्म करने की।

दूसरे राज्यों से आने वाले पर रखी जा रही नजर
संभावित तीसरी लहर यानी कोरोना के नये वैरिएंट को देखते हुए जिले में कोविड जांच और वैक्सीनेशन अभियान तेज कर दिया गया है। जिले के बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन समेत अन्य सार्वजनिक जगहों पर जांच एवं वैक्सीनेशन अभियान बढ़ा दिया गया है। साथ ही बाहर यानी दूसरे राज्यों और देशों से आने वाले लोगों पर नजर रखी जा रही है। ऐसे लोगों का प्राथमिकता के तौर जांच एवं वैक्सीन से वंचित रहने पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। ताकि संक्रमण का खतरा उत्पन्न नहीं हो और सामुदायिक स्तर पर लोग इस घातक महामारी से सुरक्षित रहें।

लगातार चल रहा वैक्सीनेशन अभियान घर-घर जाकर दी जा रही है वैक्सीन
केयर इंडिया के डीटीएल अभिनंदन आनंद ने बताया कि जिले में लगातार वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। अबतक वैक्सीन लेने से छूटे व्यक्ति की घर-घर जाकर पहचान की जा रही है और उन्हें सुविधाजनक तरीके से वैक्सीन भी दी जा रही है। ताकि जल्द से जल्द शत-प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित हो सके और सामुदायिक स्तर पर लोग इस घातक महामारी से खुद को सुरक्षित महसूस कर सकें। इसके अलावा स्वास्थ्य टीम में शामिल एएनएम, आंगनबाड़ी सेविका, आशा कार्यकर्ता, जीविका दीदी समेत अन्य स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा अभियान चलाकर लोगों को वैक्सीनेशन के प्रति प्रेरित किया जा रहा है।

सावधानी और सतर्कता अभी जरूरी
कोविड संक्रमण वायरस की संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए वैक्सीनेशन के साथ सावधानी और सतर्कता रखने की जरूरत है। क्योंकि, कोरोना के नए वैरिएंट की देश में भी दस्तक हो चुका है। साथ ही इस घातक महामारी को पूरी तरह जड़ से मिटाने के लिए सावधानी और सतर्कता भी जारी रखें। यही सबसे बेहतर और कारगर उपाय है।
-डॉ देवनंदन पासवान, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी

खबरें और भी हैं...