प्रशासन सख्त:आज से चार बजे ही सभी प्रकार की दुकान होंगी बंद

किशनगंज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले भर में धारा 144 प्रभावी, शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू
  • पिछले आदेश के मुताबिक शाम छह बजे तक खोल सकते थे दुकानें

कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने का प्रयास जारी है। जिला पदाधिकारी आदित्य प्रकाश ने भीड़ नियंत्रण के लिए जिले में धारा 144 लगा दिया है। इसके साथ ही आज से दो मई तक जिले में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है। आवश्यक वस्तुओं की दुकान छोड़कर सभी दुकान बंद रहेंगे। आवश्यक सेवा की दुकानें भी शाम चार बजे तक ही खुले रहेंगे। एसडीएम ने गुरुवार को सभी चौक-चौराहे पर जिला पदाधिकारी द्वारा जारी गाइडलाइन का प्रचार प्रसार कर स्पष्‍ट हिदायत दिया कि निर्धारित समय सीमा बीत जाने के बाद अगर कोई दुकान या प्रतिष्ठान खुले पाए जाएंगे तो दुकान को सील करने के साथ-साथ संचालक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करवाया जाएगा। 15 मई तक शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। पूर्व में रात के नौ बजे से सुबह छह बजे तक यह प्रभावी था। शादी समारोह में 50 एवं अंतिम संस्कार में महज 20 लोगों के जाने की अनुमति दी गयी है। गाइडलाइन तोड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी।

नियम उल्लंघन करने पर दंडात्मक कार्रवाई होगी
जिला पदाधिकारी ने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि कोविड 19 से संबंधित आदेशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई किया जाएगा। सरकारी व गैरसरकारी कार्यालयों को भी चार बजे तक बन्द करने को कहा गया है। इस अवधि में क्षमता का 25 प्रतिशत कर्मी ही कार्यालय में उपस्थित रहेंगे। जिला पदाधिकारी ने फल,सब्जी,मांस,मछली,किराना ,दवा एवं डेयरी प्रोडक्ट बेचने वाले दुकानों को आवश्यक सेवा में रखा है। सब्जी व फल की दुकान अब एक जगह नहीं बल्कि घूम घूम कर गली टोलों तक दुकानदारों को जाना होगा।

होम आइसोलेशन में रहकर घूमने-फिरने निकले तो दर्ज होगी प्राथमिकी
जिला पदाधिकारी ने कंटेनमेंट जोन में लाउडस्पीकर के माध्यम से प्रचार प्रसार करवाने का निर्देश दिया है। होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीज ‘’’’क्या करें, क्या न करें” इसकी भी जानकारी प्रचार प्रसार के माध्यम से दिया जाएगा। कंटेनमेंट जोन को पूरी तरह सील करने एवं संक्रमित मरीजों के परिवार के सदस्य एवं इसके इर्द गिर्द की आबादी का भी शत प्रतिशत टेस्ट करवाने का निर्देश दिया है। होम आइसोलेशन में रहने के बावजूद संक्रमित मरीज घर से बाहर निकलकर घूमते फिरते हैं। उनके विरुद्ध भी प्राथमिकी दर्ज करवाया जाएगा। कोविड 19 के उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51,60 एवं भारतीय दंड विधान की धारा188 के तहत कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...