पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सख्ती:जांच के दाैरान लैब बंद कर भागे संचालकों पर विभागीय कार्रवाई शुरू, 15 को नोटिस

किशनगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दो दिसंबर को शहर के पैथोलॉजी सेंटरों की जांच करती टीम (फाइल फोटो)। - Dainik Bhaskar
दो दिसंबर को शहर के पैथोलॉजी सेंटरों की जांच करती टीम (फाइल फोटो)।
  • जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की संयुक्त 4 टीम ने 2 दिसंबर को की थी जांच
  • खामी मिले पैथोलॉजी सेंटर को दुरुस्त करने को एक माह का अल्टीमेटम
  • दोबारा गड़बड़ी मिली तो ऐसे लैब को स्थायी तौर पर बंद कर दिए जाएंगे

जिला प्रशासन द्वारा जांच के क्रम में अपनी पैथोलॉजी बंद कर भागने वाले संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। लैब बंद कर भागने वाले 15 को नोटिस भेजा गया है। संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर इन पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। इसके अलावा अन्य सभी पैथोलॉजी संचालकों को प्रशासन ने एक माह का समय देकर अपने सभी कागजात दुरुस्त करने सहित सभी खामियां दूर कर लेने का नोटिस दिया है। एक माह बाद प्रशासनिक टीम फिर लैब की जांच कर अपनी रिपोर्ट देगी। गड़बड़ी मिली तो ऐसे लैब को स्थायी तौर पर बंद कर दिया जाएगा। बताते चलें कि विगत दो दिसंबर को जिला प्रशासन ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मियों की 4 संयुक्त टीम बनाकर पैथोलॉजी सेंटरों की जांच कराई थी। तब जिले में एक भी पैथोलॉजी सेंटर मानकों पर पूरी तरह खड़े नहीं उतरे थे। किसी भी पैथोलॉजी सेंटर के पास प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का प्रमाण पत्र नहीं मिला। जिले में पैथोलॉजी सेंटर की जांच के लिए जिला प्रशासन द्वारा चार टीमों का गठन किया गया था। एसडीएम शहनवाज अहमद नियाजी के नेतृत्व में दो दिसंबर को टीम द्वारा अलग-अलग हिस्सों में पैथोलैब की जांच की गई। जांच के बाद कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। सभी टीम ने अपनी रिपोर्ट में उल्लेख किया था कि किसी भी पैथोलॉजी सेंटर द्वारा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से प्रमाणपत्र नहीं लिया गया है। जांच रिपोर्ट में यह भी खुलासा हुआ कि कई लैब बिना चिकित्सक के ही संचालित हो रहे हैं।

जिले के दो नर्सिंग होम बंद करने की जांच टीम ने रिपोर्ट में की थी अनुशंसा
जांच टीम में शामिल चिकित्सकों एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने शहर के लहरा चौक स्थित सुरक्षा नर्सिंग होम, एवं पारस कन्टीन्यूड केयर नर्सिंग होम गाछपाड़ा को बन्द करने की अनुशंसा अपनी जांच रिपोर्ट में की थी। जांच के क्रम में पाया गया कि सुरक्षा नर्सिंग होम में न तो चिकित्सक हैं, न ही कर्मी। बिना चिकित्सक के ही नर्सिंग होम संचालित था। पारस नर्सिंग होम भी बिना चिकित्सकों के चलाने की पुष्टि हुई। दोनों को बंद करने की टीम ने अनुशंसा की थी।

त्रुटियां सुधारने का दिया मौका, नहीं तो कार्रवाई
सिविल सर्जन डॉ. श्रीनंदन ने कहा कि जांच रिपोर्ट आ जाने के बाद जांच के दिन लैब बंद कर गायब हो जानेवाले संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा एसडीएम से की गई है। इसके अलावा अन्य नर्सिंग होम व पैथोलोजी लैब संचालकों को एक माह की मोहलत दी गई है। इस दौरान वे आवश्यक व्यवस्था सहित कागजातों की त्रुटियां सही करा लें। इसके बाद टीम पुन: जांच की जाएगी। फिर वही गलती पाए जाने पर दोषी पैथोलॉजी लैब व नर्सिंग होम को स्थायी तौर पर बंद कराया जाएगा।

15 लैब संचालक जांच की भनक लगते ही बोर्ड हटा, शटर गिराकर हो गए थे गायब
दो दिसंबर को जांच के क्रम में शहर के 15 पैथलैब शटर बन्द पाया गया। कहीं- कहीं तो पैथलैब का बोर्ड भी हटा लिया गया था। जांच रिपोर्ट के अनुसार आर डी पैथोलॉजी, साईं नीरा लाल पैथोलॉजी, एम एम पैथोलॉजी, कृष्ण कुमार ऑन लाइन पैथोलॉजी, रेडी पैथोलॉजी, किशनगंज पैथोलॉजी, हेल्थ पॉइंट पैथोलॉजी, लाइफ केयर डायग्नोस्टिक, बहादुरगंज डायग्नोस्टिक, क्रिस्टल लैब, मेडिटेक लैब, सेंट्रल लैब, सहारा पैथोलॉजी एवं मैकेनिक पैथोलॉजी सेंटर का शटर बन्द मिला था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें