पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आंदोलन:भूख हड़ताल सांकेतिक, मांग पूरी नहीं होने पर आमरण अनशन

किशनगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

वेतन व अन्य मांगों को लेकर पूर्णिया विवि शिक्षक, शिक्षकेतर व अनुकंपा कर्मियों का हड़ताल आठवें दिन भी जारी है। सोमवार को पूर्णिया विवि के शिक्षक संघ के 30 शिक्षकों ने एक दिवसीय भूख हड़ताल किया। उपवास रखते हुए इन शिक्षकों ने यह घोषणा की कि यदि जल्द से जल्द विश्वविद्यालय में शांति स्थापित नहीं होती है, शैक्षणिक माहौल बहाल नहीं होता है और प्रताड़ना के कार्य वापस व शिक्षक कर्मचारियों की सभी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो आने वाले दिनों में आंदोलन और उग्र होगा।

यह भूख हड़ताल केवल सांकेतिक हड़ताल है, तब जबकि यह आमरण अनशन की दिशा में भी गति कर सकता है। इसलिए विवि प्रशासन को चाहिए कि अपने छात्रों शिक्षकों और कर्मचारियों की सभी समस्याओं का त्वरित समाधान करें और विश्वविद्यालय में शांति स्थापित करते हुए शैक्षणिक माहौल का निर्माण करें। ताकि कोरोना काल से निकलकर विश्वविद्यालय अपने गंतव्य की ओर बढ़ सके और अपनी छात्र-छात्राओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुए सभी परीक्षाओं का मूल्यांकन कार्यों का संचालन कर सके।

मौके पर विवि शिक्षक संघ के पदाधिकारी व शिक्षक, शिक्षकेतर व अनुकंपा कर्मी उपस्थित थे।  वेतन व अन्य मांगों को लेकर आज जिला प्रशासन, विवि प्रशासन और कर्मियों के बीच वार्ता होगी। हड़ताली कर्मियों ने बताया कि जिला प्रशासन ने विश्वविद्यालय प्रशासन और शिक्षक कर्मचारियों के बीच मध्यस्थता करते हुए शांति स्थापना के लिए वार्ता करने का आश्वासन दिया है। लेकिन वेतन भुगतान और निलंबन वापसी के बाद ही वार्ता की बात संभव हो होगी।

सोमवार को कुलसचिव ने स्वीकार किया कि फारबिसगंज कॉलेज के 49 कर्मियों का सारा डॉक्यूमेंट्स कुलसचिव कार्यालय को प्राप्त हुआ और सभी कर्मियों के डाक्यूमेंट्स का वेरिफिकेशन भी हो गया है। वेतन भुगतान का आश्वासन जिला के एएसडीएम, एसडीएम, एसडीपीओ, थानाध्यक्ष केहाट के सामने वार्ता हुई में दिया गया। जिला प्रशासन के सारे पदाधिकारी ने कुलसचिव पूर्णिया विश्वविद्यालय को अविलंब भुगतान करने का आग्रह किया। कुलसचिव ने कहा कि शिक्षकों का निलंबन और  शिक्षकेतर कर्मियों का कारण पृच्छा अविलंब वापस लिया जाएगा।

धरना स्थल पर कुलसचिव ने जिला प्रशासन की मौजूदगी में बताया कि मैं किसी भी प्रकार का धमकी भरा बयान बाजी अखबार में नहीं करता हूं, सारे कर्मी हमारे अनुज है और भाई हैं।  शिक्षक व कर्मचारियों के आंदोलन का समर्थन देते हुए एक प्रधानाचार्य ने अनुकंपा कमेटी से इस्तीफा देने की घोषणा की। यह घोषणा आंदोलन कर्मियों के बीच उन्होंने कही। उन्होंने कहा कि आंदोलन जायज भी है और जरूरी भी। विश्वविद्यालय को नियम अधिनियम परिनियम से चलना चाहिए। कोई भी व्यक्ति विश्वविद्यालय को अपने मनमाने तरीके से नहीं चला सकता है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement