पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डीएम की पहल:सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में सड़क दुर्घटना को कम करने की नीति बनाने पर दिया बल

किशनगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क सुरक्षा समिति की बैठक करते डीएम। - Dainik Bhaskar
सड़क सुरक्षा समिति की बैठक करते डीएम।

डीएम आदित्य प्रकाश की अध्यक्षता में शुक्रवार को जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक हुई। दुर्घटनाओं के कारण व इसे कम करने की नीति पर चर्चा हुई। डीएम ने कहा कि शहर में 72 जगहों का चयन सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए हुआ है। नप कार्यपालक पदाधिकारी कैमरा इंस्टॉल्ड करना सुनिश्चित करें। यातायात नियमों को कड़ाई से ुपालन, वाहनों पर स्पीड गवर्नर, ओवरलोडिंग, सेफ ड्राइविंग, प्रेशर हॉर्न के विरुद्ध कार्रवाई करने का निर्देश दियाा। सड़कों पर पर्याप्त संख्या में सायनेज लगवाने का निदेश दिया गया। अवैध पार्किंग, अनियमित परिचालन करने वाले वाहन, टेम्पु, टोटो के विरुद्ध कार्रवाई का निर्देश दिया गया।

डीएम ने अधिकारियों से कहा कि ऐसे नागरिकों की पहचान करें। जो विशेष अवसर सड़क दुर्घटना में घायल लोगों की मदद करते हैं। तुरंत आवश्यक फ़र्स्ट एड, अस्पताल पहुंचाने आदि का कार्य करते हैं। ताकि ऐसे लोगों को बिहार राज्य सुरक्षा परिषद के प्रावधान के अनुसार पांच हजार के साथ प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जा सके। मुख्य सड़क सहित अन्य सभी सड़कों के किनारे अतिक्रमण को हटाने के साथ-साथ सामान्य रूप से यातायात संचालन के लिए चेकिंग अभियान चलाने,चिन्हित स्थलों पर ही वाहन पार्किंग करवाने का निर्देश दिया।अवैध पार्किंग करने पर टेम्पो ,टोटो के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने का जिला पदाधिकारी ने सभी सम्बन्धित पदाधिकारियों को निर्देश दिया।

डीएम ने सड़क सुरक्षा के दृष्टिकोण से मुख्य सड़कों पर पेट्रोलिंग लगातार करते रहने तथा सघन चेकिंग कराने का निदेश दिया। सकोविड 19 सुरक्षा के मद्देनजर मास्क चेकिंग अभियान को जारी रखने, हेलमेट,सीट बेल्ट चेकिंग अभियान शुरू करने तथा नियमानुसार शमन राशि वसूल करने का निर्देश दिया।

सड़क दुर्घटनाओं पर तय होगी जिम्मेदारी : डीएम
डीएम ने पथ निर्माण, ग्रामीण कार्य, पुल निर्माण, एनएचएआई के अधिकारियों से कहा कि सड़क पर ब्लैक स्पॉट तय करें। यातायात संकेतक चिन्ह, ज़ेब्रा क्रॉसिंग निर्माण, तीखा मोड़ पर रिफ्लेक्टर, एनएच पर रम्बल स्ट्रिपिंग, टूटी रेलिंग की मरम्मत, सर्विस लेन की मरम्मत शीघ्र पूरा करें। कहा कि संबंधित क्षेत्र में होने वाले दुर्घटना की जिम्मेदारी उनकी होगी। एनएचएआई के अधिकारियों को किए जाने वाले कार्यों को प्रारम्भ कर त्वरित गति से पूर्ण कराने को कहा गया।

खबरें और भी हैं...