पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर:पिछले वर्ष कोरोना से 16 लोगों की मौत इस साल एक महीने में ही हुई इतनी मौतें

किशनगंज8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना के बेहतर इलाज के लिए जिले में 12 चिकित्सकों और पांच लैब टेक्नीशियन की होगी बहाली
  • कोरोना के 172 नए मरीज मिले; 100 लोग स्वस्थ, कुल पॉजिटिव 6493

सिविल सर्जन डॉ. श्रीनन्दन ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट में प्रेस वार्ता कर कहा कि कोविड मरीज की बेहतर इलाज के लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग हरसंभव प्रयास कर रहा है। जिले में 12 चिकित्सकों व 5 लैब टेक्नीशियन की संविदा पर बहाली होगी। इसके लिए विज्ञापन प्रकाशित किया जा चुका है। उन्होंने स्वीकार किया कि पिछले वर्ष में एक साल में जितने मरीज कोविड के मिले थे। उतना मरीज इस वेब में एक महीना में सामने आए हंै। पिछले वर्ष 16 लोगों की मौत हुई थी, लेकिन दूसरे वेब में एक महीने में 16 लोगों की जान जा चुकी है। हालांकि मरने वालों के सरकारी आंकड़े जिले में 5 ही दर्ज हैं। चूंकि बाहर में मरने वालों का डेथ सर्टिफिकेट अप्राप्त है। जिले में मंगलवार को 172 मरीज मिले हैं। 100 लोग स्वस्थ हुए हैं। सक्रिय मरीज 1078 हैं। किशनगंज शहरी क्षेत्र में सबसे अधिक 677 सक्रिय मरीज हैं। जिले में 6493 लोग पॉजिटिव मिलेे हैं। 5394 लोग ठीक हुए हैं। सरकारी आंकड़ों के अनुसार जिले में कोरोना से 21 लोगों की मौत हुई है। रिकवरी रेट 83.1 है, जबकि पॉजिटिविटी रेट 1.6 है।

1078 सक्रिय मरीज
सिविल सर्जन ने कहा कि जिले में कोरोना का दूसरा वेब काफी तेजी से बढ़ रहा है। अभी सक्रिय मरीजों की संख्या 1078 है।किशनगंज शहरी क्षेत्र में 677, दिघलबैंक प्रखण्ड में 70, बहादुरगंज प्रखण्ड में 49, किशनगंज ग्रामीण क्षेत्र में 17, कोचाधामन प्रखण्ड में 98, पोठिया प्रखण्ड में 29, टेढ़ागाछ प्रखण्ड में 26, ठाकुरगंज प्रखण्ड में 46 एवं 66 अन्य जिलों के हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण चेन को तोड़ने के लिए जनसहयोग अपेक्षित है। सबको मिलकर कोरोना की जंग जीतने का प्रयास होना चाहिए। यह तभी संभव है, जब सभी नागरिक दृढ़ संकल्प के साथ कोविड गाइडलाइन का अनुपालन करेंगे।
जिले में ऑक्सीजन व दवा पर्याप्त
सीएस ने कहा कि जिले में ऑक्सीजन व दवा की कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि जिले में 3 ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता हैं। प्रर्याप्त मात्रा में कंसेंट्रेटर मशीन हैै। जिले में कोविड केयर सेंटर बढ़ा दिए गए है। होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की निगरानी टेलीफोनिक हो रही है। सभी मरीजों को मेडिसिन किट उपलब्ध करवा दिया गया है

वैक्सीन ही एकमात्र उपाय
डीपीएम डॉ. मोनाज़िम ने कहा कि वैक्सीन काफी सुरक्षित और कारगर है। किसी को वैक्सीन को लेकर कोई भ्रांति है तो उसे मन से निकाल दें। जिले में अब तक 81143 लोगों ने प्रथम डोज एवं 21685 लोगों ने वैक्सीन का दूसरा डोज लिया है। अब तक कुल चार लाख सात हजार लोगों ने कोविड टेस्ट करवाया है।

जिले में 484 बेड बनकर तैयार
सीएस बोले जिले में 264 बेड डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर व 220 बेड का कोविड केयर सेंटर तैयार हैं। माता गुजरी मेडिकल हॉल में 120, महेशबथना डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में 93, एमएल जैन हॉस्पिटल में 24, रेडिएन्ट हॉस्पिटल में 17, जेड ए हॉस्पिटल में 20 व 220 बेड महिला आईटीआई कोविड केयर सेंटर हैं।

यह रहे मौजूद : मौके पर सीएस डॉ. श्रीनंदन, डीआईओ डॉ. रफत हुसैन, डीपीआरओ रणजीत कुमार, डीपीएम डॉ. मुनाजिम, डब्लूएचओ के एसएमओ डॉ. अमित राव, डीपीसी विश्वजीत कुमार, अनुश्रवण पदाधिकारी शशिभूषण आदि थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें