पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश:प्रसव के 24 घंटे बाद प्रसूता की मौत, आक्रोशित परिजनों ने मौके पर मिले अस्पताल के गार्ड को पीटा

किशनगंज20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में प्रसूता की मौत के बाद परिजनों से जानकारी लेते एसडीएम। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में प्रसूता की मौत के बाद परिजनों से जानकारी लेते एसडीएम।
  • मंगलवार दोपहर 2 बजे हुआ डिलेवरी, बेड चेंज कराने के दौरान सांस फूलने लगी, मौत

सदर अस्पताल में प्रसव के 24 घंटे बाद शहर के डुमरिया भट्टा निवासी 22 वर्षीय प्रसूता आंचल देवी की मौत हो जाने पर परिजनों ने बुधवार को जमकर हंगामा किया। घटना के बाद आक्रोशित परिजनों ने हंगामा करते हुए अस्पताल के गार्ड की जमकर पिटाई कर दी। घटना की सूचना के बाद एसडीएम शाहनवाज अहमद नियाजी सहित टाउन थाना पुलिस मौके पर पहुंचे। जहां दो घन्टे की कड़ी मशक्कत के बाद मामला शांत कराया। मृतका के पति गौतम पासवान ने कहा कि मंगलवार दोपहर ढाई बजे पेट में दर्द होने के बाद उसे अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां ऑपरेशन करके बेटी का जन्म हुआ। इसके बाद से मरीज ऑपरेशन थियेटर में थी। बुधवार सुबह उसे ओटी से वार्ड में शिफ्ट किया गया। शाम पांच बजे अचानक ऑन डयूटी कर्मी ने उसे पैदल बेड चेंज कराया। इसके बाद महिला की सांस फूलने लगी। इसके बाद परिजन चिकिसत्क को बुलाने गए। तब तक महिला की मौत हो गई। घटना के बाद परिजनों ने विलाप करते हुए घण्टों हंगामा किया। उक्त कर्मी जिसने महिला को पैदल चलाया था। उसे बुलाने की मांग को लेकर गार्ड की पिटाई कर दी। जिसके बाद अन्य गार्ड के बीचबचाव के बाद गार्ड को परिजनों के चंगुल से हटाया गया। मृतका के परिजनों ने कहा कि अस्पताल के कर्मियों की अस्पताल की घोर लापरवाही के कारण मरीज की जान चली गई। ऐसे लोगों पर प्रशासन अविलंब हत्या का मुकदमा दर्ज कर जेल भेजें। एसडीएम शाहनवाज अहमद नियाजी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। अस्पताल के डीएस से पूरे मामले में रिपोर्ट मांगी है। डीएस डॉ. अनवर हुसैन ने कहा कि अचानक हार्ट रुकने से मरीज की मौत हुई है। मामले में जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...