पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना की मार:एक साल और बढ़ी एनएच पर बनने वाले फ्लाई ओवर निर्माण की अवधि, जून-21 तक का समय

किशनगंज8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसएसबी मुख्यालय से फरिंगोला तक जर्जर एनएच-31 - Dainik Bhaskar
एसएसबी मुख्यालय से फरिंगोला तक जर्जर एनएच-31
  • कोरोना से पहले इस साल जून में कार्य पूरा कर यातायात चालू करने का था लक्ष्य, एक लेन बंद होने से अक्सर लगता है जाम

एनएच-31 पर फरिंगोला से स्टेशन के सामने तक बनने वाले तीन किलोमीटर लंबे फ्लाई ओवर पर फर्राटा भरने के लिए जिले वासियों को अभी एक साल और इंतजार करना होगा। काेरोना की वजह से हुए लॉकडाउन ने निर्माण कार्य पूर्ण होने के समय को एक साल और पीछे ढकेल दिया है। अब जून 2021 तक इसका निर्माण कार्य पूर्ण होने की उम्मीद है।

फ्लाई ओवर निर्माण को लेकर एनएच का एक लेन पूरी तरह बाधित है। एप्रोच पथ भी एक तरफ बन्द कर दिया गया है। एक ही लेन पर वाहनों के आने जाने के कारण ट्रैफिक की समस्या तो उत्पन्न होती ही है। सड़क भी जर्जर हो चुका है। एसएसबी मुख्यालय से फरिंगोला तक सड़क पर गड्ढे बने हुए हैं। जिससे दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

एक ट्रक की पत्ती अगर गड्ढे में पड़कर टूट जाती है तो दोनों ओर जाम की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। इस स्थिति से निजात दिलाने के लिए दो महीने पूर्व डीएम जिले के सभी वरीय अधिकारियो के साथ एसएसबी मुख्यालय के पास पहुंचे थे।

सड़क की स्थिति देख उन्होंने मौके पर एनएचएआई के अधिकारियों को वैकल्पिक व्यवस्था दुरुस्त करने का सख्त हिदायत किया था। साथ ही तोड़े गए नालियों का भी शीघ्र निर्माण करने का निर्देश दिया था। लेकिन विभाग ने अब तक रुचि नही ली है।
बिना वैकल्पिक व्यवस्था के शुरू किया था फ्लाई ओवर निर्माण
एनएचएआई द्वारा फ्लाई ओवर निर्माण की शुरूआत से पूर्व लोगों को होने वाली कठिनाइयों का ध्यान नहीं रखा गया।निर्माण कार्य शुरू होते ही एक लेन के साथ साथ पश्चिमी एप्रोच पथ को भी आवागमन के लिए अवरुद्ध कर दिया गया।

पूर्वी एप्रोच पथ पर एनएचएआई ने अपनी ही बनाई नाली तो तोड़कर महीनों तक एप्रोच पथ पर ही ह्यूम पाइप छोड़ रखा था। जिसकी वजह से आने जाने वालों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

पूर्वोत्तर का प्रवेश द्वार है फरिंगोला

जिस जगह पर एनएच 31 जर्जर है। वह नार्थ ईस्ट के सात राज्यों का प्रवेश द्वार है। एनएचएआई लोगों को स्पीड व अन्य सुविधा उपलब्ध करवाने के बदले बैरियर लगाकर टैक्स वसूलती है। इसके बदले में उसे आमलोगों को बेहतर रोड उपलब्ध कराने की गारंटी देना है। लेकिन यह नहीं हो रहा है।

वर्षा के कारण बेडमिशाली उतना कारगर नहीं हो पाया
लॉकडाउन के कारण निर्धारित समय पर कार्य पूरा नहीं हो सका। जर्जर सड़क पर बेडमिशाली डाला गया था। लेकिन भारी वाहनों के लगातार गुजरने एवं अत्यधिक वर्षापात के कारण बेडमिशाली उतना कारगर नही हो पाया। फ्लाई ओवर कार्य पूर्ण होने के बाद जर्जर सड़क को पुनः बनाया जाएगा। जैसा कि एग्रीमेंट में है। नाला निर्माण का कार्य जारी है।
विनय कुमार, कार्यपालक अभियंता
एप्रोच पथ के दोनों तरफ खाली किया जाएगा सामान
आज सोमवार से अतिक्रमण मुक्त कराने का अभियान शुरू कर दिया गया है। एप्रोच पथ के दोनों ओर एवं पुल के नीचे जितने भी सामान व दुकान हैं सभी को हटा कर यातायात को सरल व सुगम बनाया जाएगा।
दीपक कुमार, नप कार्यपालक पदाधिकारी

खबरें और भी हैं...