कार्यक्रम:पीएम ने 35 फसल की प्रजातियों का किया लोकार्पण

किशनगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वैज्ञानिक-कृषक समागम का दीप जलाकर उद्घाटन करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
वैज्ञानिक-कृषक समागम का दीप जलाकर उद्घाटन करते अधिकारी।
  • कृषि विज्ञान केन्द्र में वैज्ञानिक-कृषक समागम आयोजित

कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रशिक्षण कक्ष में मंगलवार को जलवायु अनुकूल कृषि तकनीकों एवं पद्धतियों का व्यापक अभियान सह वैज्ञानिक कृषक समागम कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में सीधा प्रसारण के माध्यम से प्रधानमंत्री द्वारा किसानों से सीधा संवाद का प्रसारण कृषकों को दिखाया गया। इस अवसर पर पीएम ने विशेष गुणों वाले 35 फसल प्रजातियों का लोकार्पण किया। कार्यक्रम का उदघाटन डॉ. कलाम कृषि कॉलेज के प्राचार्य डॉ. विद्याभूषण झा, जिला कृषि पदाधिकारी प्रवीण कुमार झा, वरीय वैज्ञानिक एवं प्रधान ई. मनोज कुमार राय, परियोजना निदेशक आत्मा डॉ. के के प्रसाद ने संयुक्त रुप से किया। मुख्य अतिथि डॉ. विद्याभूषण झा ने किसानों को रासायनिक उर्वरक एवं कीटनाशी के दुष्प्रभाव के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए जैविक खेती को अपनाने पर विशेष बल दिया साथ ही खेती में मशीनों के उपयोग के लाभ बताए। जिला कृषि पदाधिकारी प्रवीण कुमार झा ने किसानों से कृषि वैज्ञानिकों से संपर्क में रहने और उनके सलाह के अनुसार खेती करने की अपील की। उन्होंने पंक्ति बुवाई का फायदा बताया। वरीय वैज्ञानिक एवं प्रधान ई. राय ने कहा कि किसान बंधु समय पर फसलों की बुवाई के लिए विभिन्न कृषि यंत्रों का प्रयोग कर समय और लागत में बचत कर अधिक उपज प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने जलवायु अनुकूल कृषि के लिए यंत्रों के उपयोग की अपील की। डॉ. हेमंत कुमार सिंह ने किसानों को उद्यानिक फसलों पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करने की तकनीक बताई। डॉ. नीरज प्रकाश ने जलवायु अनुकूल खेती के साथ ही फसल अवशेष प्रबंधन बताए। डॉ. मेराज ने जल संचय एवं मिट्टी की उर्वरा प्रबंधन की जानकारी दी। कार्यक्रम को सफल बनाने में सुनीता कुमारी, राकेश मंडल, हसन नवाज, सोनू कुमार सिंह आदि सक्रिय दिखे। कार्यक्रम में दो सौ से अधिक किसानों ने भाग लिया जो जिले के विभिन्न क्षेत्रों के थे।

खबरें और भी हैं...