मरीजों पर विभाग की नजर:संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए अब हिट एप के जरिए मरीजों की ट्रैकिंग कर ऑक्सीजन लेवल की जा रही जांच

किशनगंज6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जांच करते स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
जांच करते स्वास्थ्यकर्मी।
  • सीएस ने कहा-ऑक्सीजन लेवल 94 से कम रहने पर मरीजों को भर्ती होने की दी जा रही सलाह

जिले में संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए अब हिट एप के जरिये मरीजों की ट्रैकिंग कर ऑक्सीजन लेवल मापा जा रहा है। सिविल सर्जन डॉक्टर कौशल किशोर ने कहा कि हिट एप से ट्रैकिंग के बाद मरीजों के बारे में लगातार अपडेट मिल रहा है। अगर मरीजों की हालत बिगड़ती है तो उसे तत्काल इलाज की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इससे मरीजों को सहूलियत मिलेगी। हिट एप के माध्यम से मरीजों की ट्रैकिंग कर ऑक्सीजन लेवल मापा जाता है। अगर ऑक्सीजन का लेवल 94 से कम रहता है तो उसे भर्ती होने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति का आकलन कर उसे हिट एप पर अपलोड किया जाता है। जिस पर जिला प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय तक की नजर रहती है। जिले में अभी कोरोना के 434 एक्टिव केस हैं। सभी होम आइसोलेशन में हैं। स्वास्थ्यकर्मी मरीजों के घर-घर जाकर ऑक्सीजन लेवल जांच कर रहे हैं। साथ ही अन्य परेशानी को भी नोट किया जा रहा है। इस दौरान स्वास्थ्यकर्मियों से मरीज अपनी परेशानी भी बता रहे और परेशानी का तत्काल समाधान भी किया जा रहा है। मरीजों को इससे यह फायदा मिल रहा है कि उन्हें किसी भी तरह की तकलीफ होने पर स्वास्थ्य विभाग को न ही फोन करना पड़ रहा है। वैक्सीन ही एकमात्र कारगर उपाय : सिविल सर्जन ने कहा कि संक्रमण से बचने के लिए टीका काफी कारगर है। टीका लगने के बाद शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। जो कोरोना संक्रमण से लड़ने में अहम भूमिका निभाती है। टीका संक्रमण से बचाव के लिए ही बनाया गया है। इसका कोई नकारात्मक प्रभाव भी नहीं है। जिले में अभी तक 8.98 लाख व्यक्ति को प्रथम डोज एवं 6.25 लाख व्यक्ति को दूसरी डोज दी जा चुकी है।

संक्रमण को हराने में आम लोगों की भूमिका अहम
सिविल सर्जन ने जिले के सभी लोगों से अपील है कि अनावश्यक अपने घरों से निकलने से परहेज करें। यदि निकलना अनिवार्य हो तो कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करते हुए बाहर आए। सभी लोग देश और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझें। अगर लोग स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के साथ साथ कंधे मिलाकर चले तो कोरोना वायरस को हराया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...