पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महामारी का कहर:जिला टीकाकरण पदाधिकारी सहित दो की कोरोना से मौत, दो माह में 50 से अधिक मौतें

किशनगंज25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना से मौत के बाद दाह संस्कार को ले जाते परिजन। - Dainik Bhaskar
कोरोना से मौत के बाद दाह संस्कार को ले जाते परिजन।
  • कोरोना संक्रमण दर में आई कमी, जिले का रिकवरी रेट बढ़कर 92.1 फीसदी
  • रुईधासा का रहने वाला था युवक, सिलीगुड़ी में चल रहा था इलाज

कोरोना संक्रमण का दर अब जिले में कम हो रहा है, लेकिन कोरोना से मरने वालों के आंकड़े अब भी बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में दो लोगों की मौत कोरोना से हुई है। मृतकों में सदर अस्पताल में पदस्थापित जिला टीकाकरण पदाधिकारी (प्रतिरक्षण पदाधिकारी) डॉ. रफत हुसैन भी शामिल हैं। जानकारी के अनुसार डॉ. रफत हुसैन 10 दिन पूर्व संक्रमित हुए थे। संक्रमण के बाद होम आइसोलेशन में ही उनका इलाज जारी था। बीच मे उनकी स्थिति में सुधार भी हुआ था, लेकिन ऑक्सीजन लेवल उनका घटता-बढ़ता रहता था। शनिवार को उनकी तबियत काफी बिगड़ने के बाद उन्हें पूर्णिया स्थित मैक्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया, लेकिन शनिवार की देर रात उनकी मौत हो गयी। दूसरी तरफ रुइधासा निवासी 28 वर्षीय आलोक सिंह की भी मौत कोरोना से होने की पुष्टि हुई है। मृतक आलोक एक महीना पूर्व कोरोना से संक्रमित हुए थे। परिजनों ने आलोक सिंह को सिलिगुड़ी स्थित मित्रा नर्सिंग होम में एडमिट करवाया था। एक सप्ताह के बाद शनिवार की सुबह उनकी मौत हो गयी। कोरोना के प्रथम वेव में 2020 में कुल 16 लोगों की मौत कोरोना से हुई थी, लेकिन वर्ष 2021 में कोरोना के दूसरे वेव में विगत दो महीने में जिले में 50 से अधिक लोगों की मौत कोरोना से हुई है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े में महज सात आदमी के ही मौत दर्ज हैं। सिविल सर्जन डॉक्टर श्रीनन्दन ने भी दर्ज आंकड़ों से कई गुणा अधिक मौत होने की पुष्टि की है, लेकिन मृतक का डेथ सर्टिफिकेट नहीं जमा होने के कारण मृतकों के रिकॉर्ड दर्ज नहीं हो पाए हैं।

रिकवरी दर में हुआ इजाफा, 97 मरीज हुए स्वस्थ
जिले का रिकवरी रेट बढ़कर 92.1 हो चुका है। संक्रमण दर में भी कमी आई है। शनिवार को कुल 37 नए मरीज मिले हैं, लेकिन राहत की बात यह कि 97 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 673 है। इनमें से 55 अभी कोविड केयर सेंटर में इलाजरत हैं, जबकि शेष मरीज होम आइसोलेशन में हैं। जिले में अभी भी किशनगंज नगर परिषद में संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे अधिक है। शनिवार को मिले मरीजों में किशनगंज ब्लॉक में 21, ठाकुरगंज प्रखण्ड में पांच, पोठिया प्रखण्ड में तीन, दिघलबैंक प्रखण्ड में एक, टेढ़ागाछ प्रखण्ड में एक, बहादुरगंज प्रखण्ड में एक, कोचाधामन प्रखण्ड में दो एवं जिले से बाहर के तीन मरीज शामिल हैं।

वैक्सीनेशन, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट को दिया जा रहा बढ़ावा
सिविल सर्जन डॉ. श्रीनन्दन ने कहा कि जिले में संक्रमण चेन को पूरी तरह ध्वस्त करने के लिए विभाग द्वारा काफी चौकसी बरती जा रही है। सभी प्रखंडों में टीम गठित कर बाहर से आने वालों की तलाश, मरीजों के संपर्क में आने वालों की पहचान एवं उनका जांच करवाया जा रहा है। वेक्सीनेशन के लिए जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। डीएम ने भी तीन दिन पूर्व सभी प्रखंडों के लिए जागरूकता रथ को रवाना किया है। इसके अलावे हिट एप के माध्यम से होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों का फॉलो अप लगातार जारी है। जिन मरीजों का ऑक्सीजन लेवल 94 से कम पाया जाता है। उन्हें तुरंत कोविड केयर सेंटर में भर्ती करवाया जाता है। उन्होंने लोगों से अपील किया है कि कोविड गाइडलाइन का अक्षरशः पालन करें।

खबरें और भी हैं...