आस्था:कुमारखंड के सभी 21 पंचायतों में कलश स्थापित कर माता की पूजा शुरू

कुमारखंड16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ड्योढी दुर्गा मंदिर - Dainik Bhaskar
ड्योढी दुर्गा मंदिर
  • घरों व मंदिरों में कलश स्थापित कर की जा रही मां भगवती की आराधना

प्रखंड मुख्यालय समेत प्रखंड के सभी 21 पंचायतों में कलश स्थापना के साथ ही शारदीय नवरात्र का पर्व परम्परागत तरीके से साथ शुरू हो गया। गुरुवार को पूरे विधि विधान के साथ घरों ,मंदिरों और पूजा पंडालों में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ कलश की स्थापना की गई। नवरात्र के पहले दिन दुर्गा माता के पहला रूप प्रथम शैलपुत्री की पूजा अर्चना की गई। इस दरम्यान श्रद्धालुओं ने दुर्गा सप्तशती ,रामायण, गीता आदि धर्म ग्रंथों का पाठ भी किया। लगातार इस वर्ष 8 दिनों तक चलने वाले पूजा अर्चना के बाद दशमी को पूजा का समापन किया जाएगा। दुर्गा पूजा के प्रारंभ होने के अवसर पर प्रखंड मुख्यालय स्थित मुख्य बाजार एवं पोस्ट ऑफिस के समीप स्थित दुर्गा मंदिर, खुर्दा स्थित दुर्गा मंदिर, रहटा स्थित सार्वजनिक काली दुर्गा मंदिर और पंचायत भवन के पास स्थित दुर्गा मंदिर ,परमानंदपुर बाजार स्थित दुर्गा मंदिर, बेलारी, भतनी बाजार ,इसराइन कला ,इसराइन बेला स्थित दुर्गा मंदिरों सहित अन्य पंचायतों में स्थित दुर्गा मंदिरों में कलश स्थापना के साथ धूमधाम शारदीय नवरात्र प्रारंभ हो गया है।

प्रखंड मुख्यालय कुमारखंड स्थित ड्योढी दुर्गा मंदिर में स्थापित कलश और मूर्ति।
प्रखंड मुख्यालय कुमारखंड स्थित ड्योढी दुर्गा मंदिर में स्थापित कलश और मूर्ति।

पंडालों को सजाने-संवारने में जुटी पूजा समिति
इन मंदिरों में स्थानीय पूजा कमेटी के द्वारा आकर्षक रूप से सजावट का काम प्रारंभ है। साथ ही मेला के आयोजन को लेकर भी तैयारी चल रही है। लोगों में शारदीय नवरात्र को लेकर काफी उत्साह और आस्था का माहौल देखा जा रहा है। दुर्गा पूजा में शांति व्यवस्था बनाए रखने के साथ ही डीजे पर प्रतिबंध लगाने और पूजा पंडाल की प्रशासन से विधिवत पूर्व में लाइसेंस प्राप्त करने से संबंधित सभी तरह की जानकारी श्रीनगर थाने में आयोजित शांति समिति की बैठक में बुधवार को दे दी गई है। पुलिस प्रशासन शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरी तरह चौकसी अभी से ही बरतनी शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...