पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग:आशा कार्यकर्ताओं ने बैठक में बकाया भुगतान की मांग की

चानन23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मननपुर एचएस की आशा कर्मी ने मांगा मेहनताना

स्कीम आधारित चयनित आशा, ममता, आंगनबाड़ी सेविका सहायिका और सरकारी स्कूलों के मिड डे मील रसोइया की हालत बंधुआ मजदूर से भी बदतर है। स्कीम, ठेका, संविदा, फ्रेंचाइजी नियोजन आदि शब्दों का सरकार द्वारा कामगारों के शोषण के लिए बड़े पैमाने पर दुरुपयोग किया जा रहा है। एक तो सरकार इन स्कीम वर्कर्स को वेतन नहीं देती है। ऊपर से साल भर तक इनको प्रोत्साहन राशि सहित अन्य सभी प्रकार के पारिश्रमिक भुगतान नही किया गया है।

खबरें और भी हैं...