सुकन्या योजना और डाक बीमा में करोड़ों का गबन:पोस्टमास्टर खा गया 200 खाताधारकों के जमा पैसे, पासबुक पर राशि चढ़ा देता था, लेकिन नहीं करता था इंट्री

लखीसराय8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखीसराय में खाता दिखाकर अपनी परेशानी बताते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
लखीसराय में खाता दिखाकर अपनी परेशानी बताते ग्रामीण।
  • 10 वर्षों से ब्रांच पोस्टमास्टर कर रहा था गड़बड़ी का खेल
  • पैसे लाने के लिए लाभुक पहुंचे तो मामले का हुआ खुलासा

लखीसराय के रामनगर, तरी टोला और रहटपुर गांव के 200 गरीब-मजदूर बदहवास हैं। समझ में नहीं आ रहा है कि वे अब क्या करें। 10 साल से पाई-पाई जमा कर जिस पैसे को उन्होंने पोस्ट ऑफिस में जमा किया, वह उनके खाते में हैं ही नहीं। कम्प्यूटर के युग में भी वहां के ब्रांच पोस्टमास्टर ने ग्रामीणों के साथ बड़ा घपला कर लिया। जो भी पोस्ट ऑफिस में पैसे जमा करने आता था, उसका पैसा तो पासबुक पर चढ़ा देता था, लेकिन उसकी इंट्री न तो डाक विभाग के खाते में करता था और ना पोस्ट ऑफिस की साइट पर सही लेखा-जोखा डालता था। 2 करोड़ के गबन का यह मामला सुकन्या समृद्धि योजना और ग्रामीण डाक बीमा योजना में सामने आया है।

लखीसराय जिले के पिपरिया प्रखंड के रामनगर ब्रांच पोस्टमास्टर ने ग्रामीणों द्वारा जमा की गई राशि से अपनी जेब गर्म कर ली। पासबुक पर फर्जी तरीके से राशि जमा चढ़ा दी। जमा की गई राशि का मैच्युरिटी पूरा होने पर ग्रामीण जब पोस्ट ऑफिस से राशि की निकासी करने पहुंचे तो गड़बड़ी का खुलासा हुआ। गड़बड़ी का खुलासा होने के बाद ब्रांच पोस्टमास्टर गणेश प्रसाद सिंह पिछले एक साल से लापता है। लाभुक राशि लेने के लिए पोस्ट ऑफिस के चक्कर काट रहे हैं। पैसे नहीं मिलता देख ग्रामीणों ने इसकी शिकायत लखीसराय के सहायक डाक अधीक्षक उमाशंकर प्रसाद से की। एक सप्ताह पहले उन्होंने रामनगर एवं तरी टोला गांव पहुंचकर पोस्ट ऑफिस की जांच कर जमाकर्ताओं से पूछताछ की। पोस्ट ऑफिस की साइट पर जमा राशि की पड़ताल की तो गड़बड़ी सामने आई।

पोस्टमास्टर के घर से 6 रजिस्टर बरामद
रविवार को लखीसराय के सहायक डाक अधीक्षक उमाशंकर प्रसाद और पोस्टमास्टर मनीष कुमार ने ब्रांच पोस्टमास्टर गणेश प्रसाद सिंह के पश्चिमी कार्यानंदनगर स्थित आवास पर छापेमारी की तो उनके घर में 6 तरह के रजिस्टर मिले। गणेश प्रसाद सिंह घर से फरार था। 200 पासबुक में ब्रांच पोस्टमास्टर के जरिए 2 करोड़ से अधिक रुपए के गबन की बात कही जा रही है। राशि गबन में डाक विभाग के कई अधिकारियों की भी संलिप्तता जताई जा रही है।

80 हजार किया जमा, खाते में मात्र एक हजार
तरी टोला के गोपाल यादव, राजीव कुमार, अनीता कुमारी, नूतन कुमारी, नूरी देवी, रेणु देवी, किरण देवी, गणेश यादव, प्रमोद यादव समेत 200 लोगों का ब्रांच पोस्टमास्टर गणेश प्रसाद सिंह ने रामनगर पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवाया। खाताधारक 10 वर्षों से बीमा पॉलिसी की राशि जमा करते आ रहे हैं। पोस्ट मास्टर कई जमाकर्ता के पासबुक अपने पास भी रखे हुए है। तरी टोला के गोपाल यादव के खाता नंबर- 82966046597 में 33 हजार तीन सौ रुपए चढ़ा हुआ है, लेकिन जांच के बाद मात्र 1000 रुपए जमा हैं। इसी तरह सुनीता देवी के खाता नंबर- 8296046581 में 80 हजार रुपए के बदले मात्र 1500 रुपए जमा हैं।

पैसे जमा किए, नहीं हुआ बीमा
रामनगर निवासी मनीष कुमार, कल्पना देवी, राजीव कुमार, प्रमोद यादव और गणेश यादव ने बताया कि पोस्ट ऑफिस में मुख्यमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना एवं ग्रामीण डाक बीमा (RPLI) के लिए पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवा कर प्रीमियम राशि जमा कर रहे हैं, लेकिन किसी का पॉलिसी हुआ ही नहीं है। मैच्यूरिटी पूरा होने पर पहले तो टाल-मटोल की और अब एक साल से लापता हैं। ग्रामीणों ने कहा कि मेहनत-मजदूरी करके रुपए जमा किए थे कि भविष्य में काम आएंगे, लेकिन उसके पहले गबन कर लिया गया।

मैनेज का दिया जाने लगा है प्रलोभन
डाक विभाग में गबन के मामले का खुलासा होते ही इस मामले में डाक विभाग के अधिकारी से पूछताछ की जाने लगी तो रिपोर्टर को मैनेज करने के लिए फोन आने लगे। डाक विभाग के कर्मी अधिकारियों से द्वारा खबर को फिलहाल नहीं प्रकाशित करने और घर पर आकर मिलने का प्रलोभन दिया जाने लगा। इस मामले में मुख्यालय के अधिकारियों की भी संलिप्तता हो सकती है। एक माह से मामले को दबाने/मैनेज करने का प्रयास किया जा रहा था। रिपोर्टर के हाथ खबर लगने के बाद डाक विभाग के अधिकारियों के चेहरे पर हवाइयां छूटने लगी हैं।

'गड़बड़ी आई सामने, चल रही है जांच'
सहायक डाक अधीक्षक उमाशंकर प्रसाद ने बताया कि जमाकर्ता से पासबुक और राशि का डिटेल मांगा गया है। कुछ पासबुक का डिटेल मिला है। डाक विभाग के एकाउंट पर मिलान कर जांच की जा रही। कई मामलों में गड़बड़ी सामने आई है। जांच के बाद दोषी के विरुद्ध कार्रवाई होगी।

देखिए, किस तरह से सामने आई गड़बड़ी

1. गोपाल यादव, तरी टोला

  • खाता संख्या - 8296046597
  • पासबुक पर जमा किया - 33,300
  • एकाउंट में जमा राशि - 1000

2. सुनीता देवी, तरी टोला

  • खाता संख्या - 8296046581
  • पासबुक पर जमा किया - 80,000
  • एकाउंट में जमा राशि - 1500

3. अंशु कुमारी, तरी टोला

  • खाता संख्या - 8296056786
  • पासबुक पर जमा किया - 25,000
  • एकाउंट में जमा राशि - 2000

4. पूजा कुमारी, तरी टोला

  • खाता संख्या - 8296056530
  • पासबुक पर जमा किया - 75,000
  • एकाउंट में जमा राशि - 1000

5. प्रिया कुमारी, तरी टोला

  • खाता संख्या - 3252157478
  • पासबुक पर जमा किया - 70,000
  • एकाउंट में जमा राशि - 3000
खबरें और भी हैं...