पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खतरा:लखीसराय-झाझा सहित कई स्टेशनों में नवंबर से साफ-सफाई बंद, यात्री नाराज

लखीसराय2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सफाई कार्य बंद होने से लखीसराय स्टेशन पर फैली गंदगी। - Dainik Bhaskar
सफाई कार्य बंद होने से लखीसराय स्टेशन पर फैली गंदगी।
  • कोरोना संक्रमण के समय सफाई कार्य बंद होने से स्टेशनों पर फैल रही गंदगी
  • रेलयात्री बोले-ऐसे तो कोरोना के साथ दूसरी बीमारी हो जाएगी

कोराना संक्रमण रोकने के रेलवे के सभी दावे स्टेशनों पर फेल हो जाते हैं। सफाई के अभाव में स्टेशनों पर गंदगी फैल रही है। यात्री बड़ी संख्या में बिना मास्क के स्टेशन आ रहे हैं। ट्रेनों में भीड़ उमड़ रही है। अभी मास्क को वैक्सीन बता अनिवार्य कर स्वच्छता पर जोर दिया जा रहा है। दूसरी ओर कोरोना संक्रमण काल में स्टेशनों की सफाई पूरी तरह बंद करने से रेलयात्री नाराज हैं। किऊल स्टेशन पर कई यात्रियों ने कहा कि अभी जब कोरोना काल चल रहा है और बचाव के उपाय के रूप में मास्क अभियान चल रहा है तब सफाई कार्य बंद करना तो बीमारियों को आंमत्रण देना है। लखीसराय झाझा सहित दानापुर डिविजन के कुछ स्टेशनों को छोड़ ज्यादातर स्टेशनों पर नवंबर के पहले सप्ताह से ही सफाई कार्य बंद हैं। स्थानीय रेलवे के अधिकारियों के अनुसार पैसों की कमी से ठेके पर चल रही सफाई व्यवस्था वरीय अधिकारियों के निर्देश पर बंद है। किऊल-गया सेक्शन की 130 किलोमीटर के सभी स्टेशनों में यह व्यवस्था बंद कर दी गई है। इसके अलावा किऊल झाझा एवं किऊल- पटना सेक्शन भी प्रभावित है। वहीं इसीआर के बड़े अधिकारी पैसे की कमी की बात से इंकार करते हैं। रेलवे ने सबसे पहले रेलवे कोलोिनयों की सफाई व्यवस्था को बंद किया। छह महीने से कोलोनियों में सफाई बंद है। फिर नवंबर के पहले सप्ताह से अन्य स्टेशनाें पर भी इसे बंद कर दिया गया। स्टेशनाें पर जहां तहां गंदगी पसरी हुई है। गंदगी के बीच ट्रेनों की प्रतीक्षा करना यात्रियों की मजबूरी बन गई है। काेराना काल में ट्रेनें बंद थी, अब ट्रेनें चलने लगी है। यात्रियों की भीड़ भी उमड़ रही है।

स्टेशनों पर कोरोना को रोकने की रेलवे की व्यवस्था फेल
छोटे स्टेशनों की बात तो दूर किऊल जैसे बड़े स्टेशनों पर भी यात्रियों कीे स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन नहीं हो रही है। स्टेशन एवं ट्रेनों में बिना मास्क के यात्रियों की काफी भीड़ हो रही है। सेनेटाइज करने की भी कहीं कोई व्यवस्था नहीं है। ट्रेनों के परिचालन शुरू होने एवं संख्या बढ़ने से रोज व रोज यात्रियों की संख्या भी बढ़ती जा रही है।

पहले सफाईकर्मी दूसरे विभाग में मर्ज फिर ऑउटसोर्सिंग को
रेलवे में सफाई के लिए पहले अलग विभाग था। रेलवे ने पहले सफाईकर्मियों को दूसरे विभाग में मर्ज किया। फिर सफाई व्यवस्था ईएनएचएम यानि पर्यावरण इंवारपमेंट एंड हाऊस किपिंग मैनेजमेंट को सौंपी। कुछ सालों तक सफाई ठेके पर चला। अब यह व्यवस्था बंद है। सिर्फ एनएसजी वन, टू एवं थ्री टाइप के स्टेशनों तक यह व्यवस्था सीमित है।

एनएसजी-फोर से आगे कम ट्रेनें चलने से बंद की गई सफाई व्यवस्था
अभी यात्री ट्रेेनें कम चल रही है। जो भी स्पेशल ट्रेनें चल रही है, उसके ठहराव में भी कमी की गई है। इन्हीं कारणों से फिलहाल सफाई कार्य को बंद करने का निर्णय लिया गया है।
राजेश कुमार, सीपीआरओ

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser