लखीसराय:आर्थिक तंगी से परेशान चाय दुकानदार ने की आत्महत्या, लॉकडाउन के चलते बंद थी कमाई

लखीसराय2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आत्महत्या की सूचना पर मृतक महेश के घर पहुंची पुलिस। - Dainik Bhaskar
आत्महत्या की सूचना पर मृतक महेश के घर पहुंची पुलिस।
  • आत्महत्या की वजह परिवार के लोगों ने पैसे और राशन की कमी को बताया
  • एसडीओ मुरली प्रसाद सिंह ने परिवार के भूखा रहने की बात को गलत बताया

कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन है। इसका सबसे अधिक प्रभाव उन लोगों पर पड़ा है जो रोज कमाते खाते हैं। बिहार के लखीसराय के बड़ी कबैया स्थित मंदिर के पास रहने वाले महेश कुमार ने शनिवार को आत्महत्या कर ली। लॉकडाउन के चलते वह 18 दिन से दुकान नहीं खोल पाए थे। दुकान न खुला तो कमाई भी नहीं हुई, जिससे आर्थिक तंगी हो गई। पैसे की तंगी को लेकर महेश का विवाद पत्नी और बेटे से हुआ, जिसके बाद उन्होंने खुदकुशी कर ली।

महेश के परिजनों ने पैसे की तंगी की बात कही। आत्महत्या की वजह परिवार के लोगों ने पैसे और राशन की कमी को बताया। पत्नी और तीन छोटे बच्चों के भरण-पोषण का जिम्मा महेश पर था।

वहीं, मौके पर पहुंचे एसडीओ मुरली प्रसाद सिंह ने परिवार के भूखा रहने की बात को गलत बताया। उन्होंने कहा कि पिता और पुत्र में किसी बात को लेकर कहा-सुनी हो गई थी। तनाव में उसने आत्महत्या की। महेश अत्योदय कार्डधारी है। मार्च में इस परिवार को 35 किलोग्राम अनाज मिला है। इसलिए नहीं लगता कि आत्महत्या का कारण अनाज की कमी है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। मृतक के परिजन को मुआवजा मिलेगा। इसके साथ परिवार को जितना अनाज मिलता आ रहा है उतना मिलता रहेगा। तत्काल हमलोगों ने परिवार को चावल, आटा और आलू दिया है।

खबरें और भी हैं...