पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना इंपैक्ट:लॉकडाउन ने जीवनशैली के साथ रोजगार भी बदला

चानन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
होटल बंद हो जाने के बाद फुटपाथ पर सब्जी बेचता संतोष राम। - Dainik Bhaskar
होटल बंद हो जाने के बाद फुटपाथ पर सब्जी बेचता संतोष राम।
  • लॉकडाउन के कारण ग्राहकों की कमी से बंद हुई फुटपाथी दुकानें, आजीविका की थी दिक्कत

एक साल पहले आए कोरोना संक्रमण ने जहां लोगों की जीवनशैली बदल दी वहीं दूसरी लहर में इसने लोगों को अपना रोजगार बदलने के लिए मजबूर कर दिया। संक्रमण से मौत की रफ्तार ने लॉकडाउन के रूप में उद्याेग धंधे की गति पर ब्रेक लगा िदया। इसकी वजह से कामगार तो बेरोजगार हुए ही, लॉकडाउन ने छोटे व्यवसाय पर भी अपना दुष्प्रभाव डाला। आलम यह है कि वर्तमान में रोजी-रोटी की संकट से जूझ रहे चाउमीन, चाट, चाय-समोसा और अंडा बेचने वाले कम पूंजी के व्यवसायियों अपना रोजगार बदल लिया है और अब सब्जी बेचकर आजीविका चलाने को मजबूर हैं। दरअसल, चानन प्रखंड में कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की वजह फुटपाथ पर चाउमीन, चाट, चाय-समोसा तथा अंडा बचने वाले छोटे व्यवसायियों का धंधा चौपट हो गया है। लॉकडाउन में ग्राहकों के नहीं आने से उनकी रोजी-रोटी चलनी मुश्किल हो गई थी। दैनिय होती आर्थिक स्थित को पटरी पर लाने के लिए इन व्यापारियों ने अपना रोजगार की बदल लिया है। इस वजह से मननपुर बाजार में फल व सब्जी बेचने वालों की संख्या बढ़ गई है। मननपुर बाजार में दर्जनों लोग सड़कों पर दुकान लगा कर अपना व परिवार का पेट पालते थे। इसमें से बहुत से लोग होटल, खाने-पीने की दुकानें ठेले व फुटपाथ पर लगाते थे। बड़ा तबका इनकी दुकानों पर चाउमीन, चाट, छोले, भटूरे समोसे, चाय व अंडे खाता पीता था। इसके अलावा भी तमाम लोग छोटी मोटी दुकानें फुटपाथ पर लगा कर गुजारा करते थे। लेकिन लॉक डाउन होने से यह सब बंद हो गई है। केवल सब्जी व फल की दुकानें ही लगाने की अनुमति जिला प्रशासन ने दी है।

हाथ फैलाने से अच्छा है खुद कुछ करके कमाएं
लोगों ने कहा भूखे रहने व हाथ फैलाने से अच्छा खुद कुछ करके कमाएं। मननपुर बाजार के थाना चौक के पास होटल चलाने वाला संतोष अब फुटपाथ पर दुकान लगाकर सब्जी बेच रहा है। संतोष ने बताया कि लॉकडाउन लगने के बाद काफी दिनों तक घर में बैठा था। फिर खाने पीने की दिक्कत हुई तो उसने फुटपाथ पर सब्जी बेचना शुरू किया। अब शाम तक परिवार के खाने पीने भर की कमाई कर लेता है। प्रशासन ने सब्जी बेचने की छूट दी थी इसलिए वह सुबह साइकिल से मंडी से सब्जी खरीद कर लाता है।

खबरें और भी हैं...