पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तैयारी:अब ओडीएफ प्लस के लिए होगा नगर परिषद का सर्वेक्षण

लखीसराय10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2019 में शहर हुआ था ओडीएफ, केंद्रीय टीम मार्च में ओडीएफ प्लस के सर्वे के लिए पहुंचेगी जिला

नगर परिषद अब ओडीएफ प्लस की दौड़ में शामिल होने की तैयारी में हैं। 2019 में ही शहर को ओडीएफ घोषित किया था। अब ओडीएफ प्लस की तमगा लेने की तैयारी में है। ओडीएफ प्लस के लिए नगर परिषद पूरी तरह से तैयार है। केन्द्रीय टीम मार्च में ओडीएफ प्लस के सर्वे के लिए यहां पहंुचेगी। नप ने घरों में शौचालय के अलावा, कम्युनिटी एवं पब्लिक शौचालय पर खास फोकस कर रही है। जहां इसकी सुविधा देने में परेशानी है वहां मोबाइल टॉयलेट की व्यवस्था की गई है। शहर के सभी 33 वार्डों में 5100 से ज्यादा घरों में शौचालय बनवाया गया है। इसके अलावा सार्वजनिक स्थल एवं कम्युनिटी शौचालय भी बनाया गया है। विभिन्न जगहों पर यूरिनल की व्यवस्था की गई है। टीम यहां ओडीएफ प्लस कर सर्वेक्षण करेगी। फिर ग्रेडिंग मिलेगा कि हमारा शहर ओडीएफ प्लस की दौड़ में पास है या फिर। हालांकि स्वच्छता सर्वे की रैकिंग में बिहार में दूसरे एवं देश के पूर्वी जोन में 23वां स्थान मिलने से उत्साहित है।

ओडीएफ प्लस के मजबूत दावे
ओडीएफ प्लस के लिए नप केे मजबूत दावे हैं। यहां 12 कम्युनिटी शौचालय व दो पब्लिक शौचालय की सुविधा है। इसके अलावे शहर में कई सार्वजनिक स्थलों में यूरिनल की व्यवस्था की गई है। लगभग 5100 घरों में व्यक्तिक शौचालय का निर्माण कराया गया है।

सर्वेक्षण में ये बिन्दु होंगे शामिल
ओडीएफ सर्वे में टीम कई बिन्दुओं पर सर्वे करेगी। व्यक्तिक शौचालय, कम्युनिटी एवं सार्वजनिक एवं मोबाइल शौचालयों में क्या सुविधाएं है। इन शौचालयों में पानी की क्या व्यवस्था है। कितनी साफ रहती है। सर्वे के साथ टीम पब्लिक फीड बैक भी लेगी। फिर अोडीएफ प्लस की ग्रेडिंग होगी।

515 परिवारों के लिए मोबाइल शौचालय की सुविधा
नगर परिषद के सर्वे के मुताबिक शहरी क्षेत्र में ऐसे 515 परिवार हैं, जिन्हें न अपनी जमीन है अौर घर। ऐसे परिवारों के लिए मोबाइल शौचालय की व्यवस्था की गई है। 30 पफ शौचालय, 10 सीटर 18 शौचालय, 12 सीट की 10 दो सीट वाली मोबाइल शौचालय पहले से ही उपलब्ध है। इन 515 परिवारों के लिए मोबाइल शौचालय की सुविधा दी गई है।

नगर परिषद के ओडीएफ प्लस दावे के कमजोर पक्ष
नप भले ही ओडीएफ प्लस के लिए तैयार है, लेकिन कई कमजोर पक्ष भी हैं। शौचालयों में पानी नहीं रहने से गंदा रहता है। नियमित सफाई नहीं होती। यूरिनल भी गंदा है। शौचालयों की साफ सफाई पर विशेष नजर रखनी होगी। पानी की पूर्ण व्यवस्था करनी होगी।

मार्च में केंद्रीय टीम के सर्वे के लिए तैयार है नप
इस साल मार्च में शहर के ओडीएफ प्लस के लिए केन्द्रीय टीम यहां आकर सर्वे करेगी। नगर परिषद की ओर से इसकी पूरी तैयारी की गई है। जो कमियां रह गई है, उन्हें भी तेजी से दूर किया जा रहा है।
डा. विपिन कुमार, ईओ नप

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें