पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षक नियोजन:शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग के पहले दिन 15 का नियोजन, आठ पद रह गए रिक्त

लखीसराय25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लापरवाही : बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के काउंसिलिंग में बैठे अभ्यर्थी। - Dainik Bhaskar
लापरवाही : बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के काउंसिलिंग में बैठे अभ्यर्थी।
  • रामगढ़ चौक के लिए 13 व पिपरिया में 10 पदों के लिए हुआ नियोजन
  • गणित, विज्ञान, हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत और उर्दू विषय में हुआ नियोजन

केआरके हाईस्कूल में बुधवार को शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग के पहले दिन 15 शिक्षकों का नियोजन हुआ। जबकि 8 पद रिक्त रह गए। ये सभी नियोजन रामगढ़ चौक और पिपरिया प्रखंड के लिए किया गया। दोनों प्रखंडों के लिए कुल 23 पदों के लिए काउंसिलिंग हुई। इसमें रामगढ़ चौक में 13 पदों के विरुद्ध 9 और पिपरिया प्रखंड के 10 पदों के लिए 6 अभ्यर्थियों का नियोजन हुआ। दोनों प्रखंडों में नियोजन के बाद भी 4-4 पद रिक्त रह गए।
सुबह 11:30 बजे सीसीटीवी की निगरानी में शुरू हुई काउंसिलिंग
सीसीटीवी की निगरानी में बुधवार को जिला के दो प्रखंड इकाई के लिए शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग हुई। केआरके हाई स्कूल में काउंसिलिंग के लिए काफी संख्या में अभ्यर्थी काउंसिलिंग के लिए पहुंचे थे। राज्य के विभिन्न जिलों के अलावा झारखंड एवं पश्चिम बंगाल से भी अभ्यर्थी भी काउंसिलिंग के लिए केंद्र पर पहुंचे थे। सुबह 11.30 से काउंसिलिंग की प्रक्रिया शुरू की गई। काउंसिलिंग के लिए केंद्र पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस की भी तैनाती की गई थी। निर्धारित समय 11.30 बजे काउंसिलिंग की प्रक्रिया शुरू की गई। डीएम संजय कुमार एवं डीडीसी जायजा लेने काउंसिलिंग सेंटर पर पहुंचे थे।

आज पांच पदों पर होगा नियोजन | दूसरे दिन रामगढ़ चौक एवं पिपरिया प्रखंड के पांच शिक्षक पदों पर काउंसिलिंग की जाएगी। गुरुवार को पहली से पांचवी कक्षा के शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग होगी। इन पदों में तीन उर्दू शिक्षक के पद शामिल है।

झारखंड व बंगाल के भी थे अभ्यर्थी
कउंसिलिंग के लिए झारखंड एवं पश्चिम बंगाल से अभ्यर्थी यहां पहुंचे थे। पहले तो काउंसिलिंग कर रहे शिक्षा विभाग कर्मियों ने उन अभ्यर्थियों के काउंसिलिंग करने से इंकार कर दिया। कर्मियों ने कहा काउंसिलिंग सिर्फ बिहार मूल निवासियों का ही होगा। दूसरे राज्यों से आए अभ्यर्थी काउंसिलिंग के लिए अड़े रहे। उनलोगों ने राज्य सरकार की नियमावली का हवाला दिया।

दूसरे जिलों के नहीं पहुंचे अभ्यर्थी
दूसरे जिलों के ज्यादातर अभ्यर्थी नहीं पहुंचे थे। मेधा सूची के मुताबिक माइक पर प्रत्येक अभ्यर्थियों को तीन बार बुलाया जा रहा था। शामिल नहीं होने पर ऐसे अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग प्रक्रिया से निकाला जाता रहा। यही प्रक्रिया आगे भी चलती रही। काउंसिलिंग का समय शाम 4:30 तक निर्धारित किया गया था। अभ्यर्थियों के आने के इंतजार में कर्मी बैठे रहे।

भास्कर अपील
रोजगार के लिए सभी को जरूर प्रयास करना चाहिए। लेकिन इस दौरान हमें यह भी ध्यान रखना चाहिए कि कोरोना की दूसरी लहर पूरी तरह खत्म नहीं हुई है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क मुंह पर लगाने की बजाय नाक पर पहनने की जरूरत है। वहीं हमारी प्रशासनिक अधिकारियों से भी अपील है कि वे कोरोना गाइडलाइन का पालन कराएं।

इन विषयों में शिक्षकों का चयन
रामगढ़ चौक प्रखंड में गणित एवं विज्ञान में एक, हिन्दी में चार में तीन अंग्रेजी में 2 में दो संस्कृत में चार में दो एवं उर्दू में दो में से एक सीट पर अभ्यर्थियों का चयन किया गया। पिपरिया में गणित एवं विज्ञान में चार मे से तीन हिन्दी में एक में एक अंग्रेजी में 2 में 2 का चयन किया गया। संस्कृत विषय के सभी तीन पद खाली रह गए।

खबरें और भी हैं...