पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुविधा:नियोजित शिक्षकों को एसबीआई दो घंटे में दे रहा 7.5 लाख लोन

लखीसराय17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 15 साल से ज्यादा सेवा के बाद भी बैंक बैलेंस शून्य

एसबीआई नियोजित शिक्षकों का मददगार बन गया है। मात्र दो घंटे में नियोजित शिक्षकों के खाते में लोन स्वीकृत कर रहा है। जरूरी कागजात सही पाए गए तो मात्र दो घंटे में 7.5 लाख रुपये का लोन की शिक्षकों के खाते में तुरंत ही चली जाएगी। 15 साल से ज्यादा की सेवा के बाद भी ज्यादातर नियोजित शिक्षकों का बैंक बैलेंस शून्य हैं। इसकी वजह मामूली वेतन और समय पर भुगतान नहीं होना हैं। ऐसे में नियोजित शिक्षक अपनी कमाई से जमीन खरीद कर मकान बना सकते और न ही बहन बेटी की शादी कराने में सक्षम होते हैं। ऐसे में एसबीआई हजारों नियोजित शिक्षकों के लिए मददगार बना हुआ है। सितंबर 2020 से नियोजित शिक्षकों का वेतन भुगतान एसबीआई से किया जा रहा है। लखीसराय के नियोजित शिक्षकों के वेतन का भुगतान कबैया थाना के निकट एसबीआई की लखीसराय बाज़ार ब्रांच कोड 61450 से हो रहा है। नये ब्रांच की खास बात यह है कि, लोन की सहायता से नियोजित शिक्षक आपने सपने को साकार कर रहे हैं। चीफ ब्रांच मैनेजर पंकज कुमार, ब्रांच मेनेजर रोहित कुमार, सर्विस मैनेजर घनश्याम पंकज, लिपिक अरविंद दास और नेहा कुमारी एक दूसरे की मदद से लोन मात्र दो घंटे में स्वीकृत की जा रही है।

खबरें और भी हैं...