खुले स्कूल:124 दिन बाद खुले 9वीं व 10वीं के स्कूल छात्र-छात्राओं की उपस्थति ना के बराबर

लखीसराय3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केआरके स्कूल की कक्षा बैठे नौवीं कक्षा के विद्यार्थी। - Dainik Bhaskar
केआरके स्कूल की कक्षा बैठे नौवीं कक्षा के विद्यार्थी।
  • काेरोना की दूसरी लहर के स्कूल खुलने के बाद नहीं कराया गया सैनिटाइजेशन

काेरोना की दूसरी लहर के 124 दिन बाद शनिवार को जिले के सभी 9वीं व 10वीं के स्कूल खुले। लेकिन कुछ विद्यालय खुलने के पहले दिन कुछ स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति शून्य रही। सुबह 9.30 बजे से स्कूलों में शिक्षक पहुंचने लगे थे। विद्यार्थियों के नहीं आने से ज्यादातर स्कूलों में शैक्षणिक गतिविधियां शुरू नहीं हो सकी। नौवीं कक्षाओं में नामांकन के लिए इक्के-दुक्के बच्चे स्कूल पहुंचे थे। साथ ही इन विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन भी किया जा रहा था। बच्चों के नहीं आने से शिक्षक अपने कमरों में बैठे रहे। स्कूल प्रबंधन ने कहा कि शनिवार के दिन होने के चलते बच्चे नहीं आए। सबों को स्कूल खुलने की सूचना दी गई है। सोमवार से विद्यार्थियों की उपस्थिति बढ़ने की संभावना है। इधर स्कूल तो खुले, लेकिन किसी भी स्कूल प्रबंधन ने कोरोना गाइड लाइन का पालन नहीं किया। न तो साफ सफाई कराई गई। न ही सैनिटाइजेशन ही हुआ। इसके पहले 11 जुलाई से दसवीं से ऊपर की कक्षाओं को खोला गया था। 28 दिन बाद भी स्कूलों में 5 प्रतिशत से ज्यादा उपस्थिति नहीं बढ़ सकी है। अभिभावकों में अभी भी कोरोना संक्रमण का डर सता रहा है। यही वजह है कि स्कूल खुलने के बाद भी अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते। केआरके प्लस टू आदर्श स्कूल में पहले दिन नौंवी के कुल 27 बच्चे पहुंचे थे। दुर्गा बालिका हाई स्कूल में पहले दिन छात्राओं की उपस्थिति शून्य रही। नौवीं की कुछ छात्राएं स्कूल पहुंची थी। पढ़ाई करने नहीं बल्कि रजिस्ट्रेशन के लिए आई थी। स्कूल की प्रभारी प्रधानानाध्यपिका कामना कुमारी ने कहा कि शनिवार से स्कूल खुले हैं।

खबरें और भी हैं...