पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाइडलाइन का उल्लंघन:वीकेंड ऑफ पर दो बजे तक खुली रहीं दुकानें खुद के निर्देश का पालन नहीं करा पाया प्रशासन

लखीसराय13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वीकेंड ऑफ में रविवार को लखीसराय शहर की मुख्य सड़क पर भीड़। - Dainik Bhaskar
वीकेंड ऑफ में रविवार को लखीसराय शहर की मुख्य सड़क पर भीड़।
  • शहरी क्षेत्र में दुकानदार अल्टरनेट डे दुकान खोलने के निर्देश को भी नहीं मान रहे
  • पुलिस के आने का ग्राहकों को भय दिखाकर दुकानदार लेते हैं अधिक पैसे

शहर में लाॅकडाउन और वीकेंड ऑफ के गाइडलाइन का जिला प्रशासन खुद ही पालन नहीं करा पा रहा है। नतीजतन रविवार को वीकेंड रहने के बावजूद शहर की गैर जरूरी दुकानें सुबह से लेकर दोपहर 2 बजे तक खुली रहीं। खास कर शहर का नया बाजार का कॉमर्शियल इलाके में जरूरी सेवाओं की दुकानों के अलावा अन्य सभी प्रकार की दुकानें खुली रही। पुलिस गश्ती दल भी लगातार मुख्य बाजार से होकर गुजरती रही, लेकिन न तो दुकानदारों ने गाइड लाइन का पालन किया और न ही पुलिस ने ही सख्ती दिखाई। नतीजा बाजार में सुबह से दोपहर तक भीड़ उमड़ती रही। एक शहर में दो तस्वीर दिखी। नया बाजार पूरी तरह से खुला रहा तो पुरानी बाजार की दुकानदारों ने वीकेंड ऑफ का पालन किया। अपनी दुकानें बंद रखी।
बाजार में रोज दो बजे तक खुल रही गैर जरूरी दुकानें
जिला प्रशासन ने बाजार में अल्टरनेट दुकानों के खुलने का आदेश जारी किया है। दुकानदार अल्टरनेट व्यवस्था का भी पालन नहीं कर रहे हैं। चौथे लॉकडाउन में गैर जरूरी दुकानों को अल्टरनेट खोले जाने का आदेश जारी किया है। फिर भी रोज सभी प्रकार की दुकानदार अपना व्यवसाय बिना रोक टेक के कर रहे हैं। बाजार में जूते चप्पल से लेकर पान मसाला की दुकानें रोज खुल रही है। वहीं पंजाबी मोहल्ले में पकड़े की थोक दुकानें रोज खुल रही है। रोज खुलने वाली इन दुकानों में लोगों कर ज्यादा भीड़ होती है। कोरोना संक्रमण के दौर में भी पान मसाला एवं ध्रुमपान की दुकानों का कारोबार फल फल रहा है।

बंदी के नाम पर ठगे जा रहे ग्राहक
लॉकडाउन के नाम पर ग्राहक दुकानदारों द्वारा ठगे जा रहे हैं। लोग डेढ़ गुनी कीमतें देकर सामान खरीद रहे हैं। ग्राहकों के दुकान पर पहुंचते ही दुकानदार पहले ग्राहकों को बंदी का हवाला देते फिर सामान को लेने की जल्दीबाजी करते। दुकानदार ग्राहकों से यह कर ठगी करते कि जल्दी करिए पुलिस आ जाएगी। फिर ग्राहकों से मुंह मांगी कीमत वसूलते।

सौदेबाजी कर खुलती गैर जरूरी दुकानें
गैर जरूरी दुकानें खुलने के लिए सौदा होता है। इसके एवज में पुलिस वालों को भी लाभ दिया जाता है। पुलिस वालों ने इसके लिए कई दलाल पाल रखे हैं। इन दलालों के इशारे पर पुलिस वाले काम करते हैं। दलाल पहले दुकानदारों को पकड़वाते। फिर दुकानों में ताला लगता। इसके बाद तय सौदे की राशि लेने के बाद ताले की चाभी दुकानदारों को वापस दी जाती।

लॉकडाउन व सामान्य दिनों में फर्क नहीं
शहर में लॉकडाउन एवं समान्य दिनों में कोई फर्क नहीं दिखता। यहां सामान्य दिनों की तरह ही बाजार सजते हैं। फर्क है तो केवल समय का। इसपर पुलिस का नियंत्रण नहीं है। ऐसे में कम हो रही कोरोना संक्रमण की रफ्तार के बढ़ने की आशंका बढ़ गई है।

वाहन चेकिंग में वसूला 1 लाख 30 रुपए जुर्माना
लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जिले में पुलिस ने रविवार को वाहन चेकिंग अभियान चलाकर 1 लाख 31 हजार 500 रुपए जुर्माना वसूला। अभियान के दौरान सबसे अधिक सूर्यगढ़ा थाना क्षेत्र की पुलिस ने 30 हजार रुपए जुर्माने की वसूली की है। मास्क न पहनने वाले 35 लोगो से 1750 रुपए का जुर्माना वसूला गया है।

खबरें और भी हैं...