पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डूबने से एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत:किऊल हरोहर नदी में स्नान करने गए थे 4 भाई-बहन; 1 का शव बरामद, 2 की तलाश जारी, 1 भाई बाल-बाल बचा

लखीसराय4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हादसे के बाद बिलखते परिजन। गांव में मातम जैसा माहौल। - Dainik Bhaskar
हादसे के बाद बिलखते परिजन। गांव में मातम जैसा माहौल।

लखीसराय के पिपरिया प्रखंड के रामचंद्रपुर गांव स्थित किऊल हरोहर नदी में एक ही परिवार के तीन भाई-बहन की डूबने से मौत हो गई। इसमें तीनों के साथ गए एक अन्य युवक बाल-बाल बच गया। डूबने वाले तीनों भाई-बहन की पहचान सुबोध सिंह के पुत्र रोहित कुमार (14), उसकी बहन खुशी कुमारी (12 साल) और उसके चचेरे भाई कारू सिंह के पुत्र राजा कुमार (21 साल) के रूप में हुई है।

राजा के पिता कारू सिंह ने बताया कि सभी भाई-बहन घर से सुमन चौक स्थित किऊल हरोहर नदी में स्नान करने गए थे। इसी दौरान गहरे पानी में चले जाने से रोहित कुमार, खुशी कुमारी और राजा कुमार की डूबकर मौत हो गई। जबकि, राजा का छोटा भाई अंकित कुमार (21 साल) डूबने से बाल बाल बच गया। अभी वह बेहोशी की हालत में है।

घटनास्थल पर लोगों की भीड़ उमड़ गई है। शव को बरामद करने के लिए स्थानीय गोताखोरों को बुलाया गया है। 3 घंटे के बाद राजा कुमार का शव मिला है, जबकि दो भाई बहन के शव की तलाश जारी है।

किऊल हरोहर नदी के पास उमड़ी ग्रामीणों की भीड़।
किऊल हरोहर नदी के पास उमड़ी ग्रामीणों की भीड़।

घर में हुई कुछ ही दिनों पहले हुई थी शादी

रोहित और खुशी के पिता सुबोध सिंह ने बताया कि भगना और भगनी की शादी में दिल्ली के महरौली से गांव आए थे। शादी समारोह संपन्न होने के बाद सपरिवार शनिवार को दिल्ली जाने वाले थे। टिकट भी हो गया था, लेकिन इस बीच दुखद घटना हो गई। परिजन दिल्ली महरौली में मजदूरी का काम करता हैं। रोहित तीन भाई में सबसे छोटे था, जबकि खुशी कुमारी तीनों भाइयों में सबसे छोटी थी। राजा दो भाई है, जिसमें वह बड़ा था।

डॉक्टर बनना चाहता था राजा

तीनों बच्चे दिल्ली के महरौली में पढ़ाई कर रहे थे। राजा इंटर में पढ़ता था। वह पढ़ने में काफी मेधावी था इसलिए वह डॉक्टर बनना चाहता था। कारू सिंह और सुबोध सिंह के आंसू यही कहते-कहते थम नहीं रहे हैं। मजदूरी करके अपने बच्चों को पढ़ा रहे थे, लेकिन बच्चों को पढ़-लिखकर आगे बढ़ाना चाहते थे। खुशी 8वीं की छात्रा थी जबकि उसका भाई रोहित 9वीं में पढ़ रहा था।

मृतक के पिता कारू सिंह और सुबोध सिंह।
मृतक के पिता कारू सिंह और सुबोध सिंह।

तेज धार ने तीनों भाई-बहन को लील लिया

थानाध्यक्ष राजकुमार साहू ने बताया कि रामचंद्रपुर गांव के चार भाई बहन किऊल नदी में स्नान करने गए थे, जिसमें दो भाई-बहन और एक अन्य चचेरे भाई की डूबकर मौत हो गई है। ग्रामीणों की मदद से राजा कुमार का शव बरामद कर लिया गया है। दो अन्य भाई-बहन को शव बरामद करने के लिए गोताखोर का सहारा लिया जा रहा है।

ग्रामीणों ने बताया कि घटनास्थल के समीप दो साल के अंदर छह लोगों की डूबने से मौत हो गई है। हरोहर नदी के उस पार रामचंद्रपुर गांव का पशुपालकों का बथान और खेती बारी है। यहां के लोग जान जोखिम में डालकर रोज आवाजाही करते हैं। अभी नदी में पानी का तेज धार का बहाव हो रहा है।

खबरें और भी हैं...