पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से जंग:तीन नए कोरोना संक्रमित मिले, 31 स्वस्थ हो लौटे घर

लखीसराय18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीते 24 घंटे में कोरोना से एक बुजुर्ग की हुई मौत, जिले में 7424 पहुंची कुल संक्रमितों की संख्या

पिछले 24 घंटे में 03 लोग कोरोना संक्रमण के शिकार हुए हैं। जिसके बाद जिले में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 7424 हो गया है। कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 183 पर पहुंच गई है। वहीं दूसरी तरफ इलाज के दौरान पुराने 31 मरीज स्वस्थ होकर कोविड-19 से निगेटिव भी हो गए हैं। इलाज के दौरान पिछले 24 घंटे में कोरोना के कारण लखीसराय जिले में एक भी व्यक्ति की मौत होने की खबर नहीं है। रविवार को संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 7424 पहुंच गई है। रविवार को जिले भर में एक साथ 03 मरीज मिले है। वहीं रविवार को 31 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए हैं। लखीसराय जिले में कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 183 हो गया है। अबतक 7196मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए हैं। रविवार को 31 मरीज को होम आइसोलेशन से मुक्त किया गया है। 177 एक्टिव मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। 2 मरीजों को कोविड केयर तेतरहाट एवं 4 मरीजों का इलाज सदर अस्पताल के कोविड वार्ड में किया जा रहा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार संक्रमण की वजह से जिले में 48 लोगों की मौतें भी हो चुकी है। 4 संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती कर इलाज भी किया जा रहा है, जबकि 13 मरीजों को बेहतर इलाज के लिए रेफर किया जा चुका है। रैपिड एंटीजन किट से 03एवं आरटीपीसीआर से एक भी संक्रमित नहीं मिला।

आज से 18 प्लस को टीका के लिए करना होगा इंतजार
जिले में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन का सोमवार से प्रभावित होगा। लोगों को टीका लेने के लिए समय का इंतजार करना पड़ेगा। रविवार की शाम तक टीका उपलब्ध नहीं होने के कारण टीकाकरण का स्लॉट जारी नहीं किया गया है। बताया जाता है कि शनिवार को मात्र तीन वायल टीका रहने के कारण सदर अस्पताल में ही टीकाकरण हुआ था। इसके बाद बंद हो गया। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार भारती ने बताया कि राज्य स्वास्थ्य समिति से टीका उपलब्ध नहीं होने के कारण 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को टीका करण को बंद किया गया है। उन्होंने कहा कि टीका आने के बाद वैक्सीनेशन शुरू होगा।

किऊल स्टेशन पर कोरोना टेस्टिंग शिफ्ट हुआ बंद
किऊल स्टेशन पर संचालित कोरोना जांच कैंप में रात का शिफ्ट बंद हो गया है। वहां 10 अप्रैल से ही जांच कैंप संचालित किया जा रहा है। कैंप में जांच कराने वालों की संख्या काफी कम हो गई है। 24 घंटे संचालित होने वाली कैंप अब मात्र दो शिफ्ट में ही जांच हो रही है। रात की शिफ्ट में कोई भी स्वास्थ्यकर्मी नहीं आते हैं। ड्यूटी पर मौजूद एएनएम वनिता कुमारी ने बताया कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हुई है।

खबरें और भी हैं...