पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई:ग्रामीण क्षेत्रों में धड़ल्ले से हो रही है पेड़ों की कटाई

गिद्धौर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पर्यावरण संरक्षण के प्रति सरकार गंभीर है। मनरेगा व वन विभाग विभागों द्वारा कई योजनाओं के माध्यम से पेड़ पौधे लगाने पर प्रत्येक वर्ष करोड़ों रुपये खर्च की जा रही है। इससे इतर निजी स्वार्थ की पूर्ति के लिए लोग हरे पेड़ों को काट रहे हैं। इससे पर्यावरण पर गहरा आघात पहुंचना लाजिमी है। प्रखंड क्षेत्र के रतनपुर पंचायत के भौराटांड़ गांव के बहियार में अवैध रूप से काट डाले गए। वन विभाग एवं मनरेगा के तहत पर्यावरण संरक्षण के प्रति हर वर्ष लाखों पौधे लगाए जा रहे हैं, लेकिन हरे पेड़ों की कटाई पर रोक लगाने की कार्रवाई नहीं हो रही है।

स्थानीय प्रशासन एवं वन विभाग की अनदेखी से इलाके के लकड़ी माफिया खुलेआम हरे पेड़ों की कटाई करवाने का काम कर रहे है। माफियाओं द्वारा हरे भरे पेड़ों को कटाकर ठिकाने लगा बाद में उसे ऊंची कीमतों पर बेचा जाता है।

खबरें और भी हैं...