परेशानी / तीन साल में भी नहीं बनी रेलवे की पानी टंकी रेल क्वार्टर में रहने वाले कर्मी हो रहे परेशान

किऊल स्टेशन के समीप निर्माणाधीन पानी टंकी। किऊल स्टेशन के समीप निर्माणाधीन पानी टंकी।
X
किऊल स्टेशन के समीप निर्माणाधीन पानी टंकी।किऊल स्टेशन के समीप निर्माणाधीन पानी टंकी।

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

लखीसराय. रेलवे क्षेत्र में पानी सप्लाई के लिए पानी टंकी तीन साल में भी नहीं बन सकी। किऊल, लखीसराय एवं रेलवे काेलाेनियों में पानी सप्लाई के लिए किऊल में 1 लाख गैलन क्षमता वाली टंकी निर्माणाधीन है। पानी टंकी पहले लखीसराय में बनाना था। फिर रेलवे ने स्थान बदल कर किऊल में पानी टंकी का निर्माण 2017 में शुरू किया। चार पांच महीनों से निर्माण का काम भी बंद है।
      किऊल एवं लखीसराय में स्टेशन सहित रेलवे कोलोनियों में पानी संकट को देखते हुए नई बाेरिंग के साथ पानी टंकी बनाना था। रेलवे यूनियन के दबाव के बाद जलापूर्ति व्यवस्था में सुधार के लिए रेलवे ने इस योजना की मंजूरी दी थी। अभी 55 हजार गैलन क्षमता वाली पुरानी टंकी बंद है। बोरिंग से सीधे रेलवे स्टेशनों और काेलानियों में पानी की आपूर्ति की जा रही है। रेलकर्मियों ने कहा कि पानी टंकी का निर्माण पूरा नहीं होने से काफी परेशानी हो रही है। 
लखीसराय, किऊल स्टेशन एवं 500 से ज्यादा रेलवे क्वार्टरों में होती जलापूर्ति
रेलवे के दो स्टेशन किऊल एवं लखीसराय सहित करीब 500 से ज्यादा रेलवे क्वार्टरों में पानी की आपूर्ति की जाती है। दो साल पहले रेलवे क्षेत्र में पानी की समस्या से स्टेशन पर रेल यात्री तो क्वार्टरों में रेलकर्मियों की परेशानी बढ़ती रही थी। कई महीनों तक पानी के लिए हाहाकार मचता रहा था। रेलवे यूनियन ने इसके लिए लंबी लड़ाई लड़ी। नई बारिंग की गई। पाइप लाइन बिछाई गई।

टंकी निर्माण पूरा नहीं होने से पानी का नहीं हो रहा स्टॉक
टंकी का निर्माण पूरा नहीं होने से पानी का स्टॉक नहीं हो पा रहा है। यदि बिजली आपूर्ति में किसी तरह की कोई बाधा आई तो रेलवे स्टेशन एवं रेलवे क्वार्टरों में तत्काल पानी की सप्लाई बंद हो सकती है। पानी के लिए कभी भी हाहाकार मच सकता है। रेलवे द्वारा किऊल में सभी पुराने टंकी को अबंडेंड घोषित किया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना