तीसरी लहर में संक्रमण सबसे तेज:पहली लहर में 40 तो दूसरी में 60 दिन में 100 के पार पहुंचा था आंकड़ा, अब महज 15 दिन में मिले 125 केस

मनोज कुमार| मुंगेर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुंगेर बस स्टैंड में बिना मास्क आवाजाही करते लोग। - Dainik Bhaskar
मुंगेर बस स्टैंड में बिना मास्क आवाजाही करते लोग।
  • 15 नए पॉजिटिव के साथ जिले में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 102, नियम पालन में अभी भी लापरवाही
  • राहत: इस लहर में मृत्युदर सबसे कम, वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोग जल्दी हो रहे हैं स्वस्थ

कोरोना संक्रमण का मौजूदा तीसरा लहर सबसे तेज है। पहले दो लहर में जहां 100 संक्रमित मिलने में 40 से 60 दिन का समय लगा था, वहीं इस लहर में संक्रमितों की संख्या मात्र 15 दिन में 125 पहुंच गई। शुक्रवार को कोरोना के 15 नए मरीज मिले, जिससे जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 102 हो गई। हालांकि राहत यह है कि तीसरा लहर शुरुआती दो लहरों के मुकाबले घातक कम है। इसमें संक्रमित जल्द स्वस्थ हो रहे हैं। शुक्रवार को भी 4 संक्रमितों को डिस्चार्ज किया गया। कोरोना का पहला चरण 22 मार्च 2020 से शुरू हुआ था। 40 दिन बाद 2 मई 2020 को कुल संक्रमितों की संख्या 102 पहुंची थी। इस लहर में 3889 लोग संक्रमित हुए और 63 लोगों की मौत हुई। दूसरा चरण 21 जनवरी 2021 से आरंभ हुआ। इस लहर में 23 मार्च को संक्रमितों का आंकड़ा 100 के पार पहुंचा। इसमें 30 नवम्बर तक कुल 10490 संक्रमित मिले, 71 लोगों की मौत हुई। तीसरी लहर 22 दिसंबर शुरू हुई और 7 जनवरी तक मात्र 15 दिन में जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 125 तक पहुंच गई।

सबसे अधिक नौवागढ़ी में 4 संक्रमित मिले
शुक्रवार को जारी कोरोना संक्रमितों की सूची के अनुसार सबसे अधिक 04 पॉजिटिव मरीज सदर प्रखंड के नौवागढ़ी में मिले। इसके अलावा शहरी क्षेत्र के गैस गोदाम में 01, चौंक बाजार में 01, मोगल बाजार में 01, बेलन बाजार में 01, बरियारपुर प्रखंड के अस्पताल टोला में 01, कल्याणपुर में 01, गालिमपुर में 01 जमालपुर प्रखंड के नया गांव बजरंगबली चौक पर 01 तथा सदर प्रखंड के चुरंबा में 01 और असरगंज प्रखंड में 02 संक्रमित मिले हैं।

बीएमपी के दो जवान सहित चार हुए डिस्चार्ज
स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम आइसोलेशन में इलाजरत 04 संक्रमित मरीजों को आइसोलेशन अवधि पूर्ण होने पर शुक्रवार को डिस्चार्ज कर दिया। जिसमें बीएमपी-09 जमालपुर के 02, धरहरा के 01 तथा असरगंज के 01 संक्रमित मरीज को शुक्रवार को डिस्चार्ज कर दिया। अब जिले में कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 102 है, जो सभी होम आइसोलेशन में हैं। जिला में कोरोना काल से अब तक मिले कुल 14504 संक्रमितों में से 14291 लोगों को इलाज के बाद ठीक होने पर डिस्चार्ज किया जा चुका है। जबकि 134 संक्रमितों की मौत हुई है।

बस में बिना जांच के ही सफर कर रहे यात्री
तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के बीच अधिकांश संक्रमितों का ट्रेवल हिस्ट्री नहीं मिला है। बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों का जांच के लिए रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड पर कोरोना जांच का निर्देश सरकार द्वारा दिया गया था। लेकिन मुंगेर रेलवे स्टेशन और कचहरी तथा सदर अस्पताल में ही कोरोना जांच हो रहा है। बस स्टैंड में यात्री बस से सफर करने वाले लोग बिना जांच के ही अपने गंतव्य तक आ जा रहे हैं। सीएस डॉ. हरेंद्र कुमार आलोक ने कहा कि संक्रमण से बचाव के लिए लोग कोरोना वैक्सीन का दोनों डोज अवश्य लें।

अभी तक जिले में 12.88 लाख लोगों को हुई जांच
तेजी से बढ़ रहे संक्रमण की रफ्तार के बीच स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना जांच भी तेज गति से किया जा रहा है। जिला में अब तक 1288725 लोगों का कोरोना जांच किया जा चुका है। शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा 3575 लोगों का कोरोना जांच किया गया। सिविल सर्जन डा. हरेन्द्र कुमार आलोक ने बताया कि शुक्रवार को 1816 लोगों का जांच एंटीजन कीट से तथा 73 लोगों का जांच ट्रूनेट से किया गया। इसके अलावा आरटीपीसीआर जांच के लिए 1686 लोगों के स्वाब का सैंपल कलेक्ट किया गया है।

खबरें और भी हैं...