फर्जी नियुक्ति का मामला:मुंगेर विवि के फर्जी नियुक्ति पत्र का एक और मामला आया सामने

मुंगेर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • युवक ने शादी के लिए लड़की के परिजनों को दिखाया नियुक्ति पत्र

मुंगेर विवि के नाम से जारी एक फर्जी नियुक्ति पत्र से संबंधित एक और मामला सामने आया है। मामला बेगूसराय जिले के संदलपुर साहेबपुर कमाल के युवक से जुड़ा हुआ है। जिसके शादी की बात मुंगेर की एक युवती से चल रही है। उक्त युवक ने लड़की वालों को यह नियुक्ति पत्र दिखाया। जिसमें युवक ने खुद की नियुक्ति मुंगेर विवि में चतुर्थवर्गीय कर्मचारी के पद पर होना दर्शाया गया। इस पत्र में विवि का लोगों तथा मुहर के अलावा कुलसचिव का भी हस्ताक्षर है। बताया जाता है कि बेगूसराय के संदलपुर साहबपुर कमाल निवासी मो. कलीमउद्दीन के पुत्र मो. वसीम के साथ चल रही थी। इसी बीच युवक ने लड़की वालों को मुंगेर विवि में खुद की नियुक्ति चतुर्थ वर्गीय कर्मी के रूप में होने का फर्जी नियुक्ति पत्र दिखाया। इस फर्जी नियुक्ति पत्र में विषय के रूप में ज्वाइनिंग लेटर ऑफ ए पिउन इन मुंगेर यूनिर्वसिटी लिखा है। जिसमें लिखा है कि 3 अगस्त 2021 को मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में मो. वसीम की नियुक्ति विवि मुख्यालय में चतुर्थ वर्गीय कर्मी के पद पर किया गया है। उनकी नियुक्ति पूरी तरह रेलुगर बेसिस पर की गई है। जबकि उनकी रेगुलर नियुक्ति की तिथि 13 अगस्त 2021 से आरंभ होगी। कैडिडेट को नियुक्ति पत्र जारी होने के 85 दिनों के अंदर विश्वविद्यालय में अपना योगदान देना है।

पहले भी कई लोग हो चुके हैं ठगी के शिकार
फर्जी नियुक्ति पत्र के कारण पूर्व में भी कई लोग इस ठगी का शिकार हो चुके हैं। एक वर्ष पूर्व तत्कालीन कुलपति प्रो. रणजीत कुमार वर्मा के समय में भी एक नहीं तीन फर्जी नियुक्ति पत्र के मामले विश्वविद्यालय के सामने आए थे। जिसमें सभी मामले जमुई से जुड़ा था।

खबरें और भी हैं...