लापरवाही:गढ़ीरामपुर वार्ड-6 में असामाजिक तत्वों ने कंटेनमेंट जोन के बांस-बल्लों को तोड़ा, संक्रमण का बना डर

मुंगेर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
असामाजिक तत्वों द्वारा उखाड़े बांस बल्ला। - Dainik Bhaskar
असामाजिक तत्वों द्वारा उखाड़े बांस बल्ला।
  • 6 जनवरी को कोरोना मरीज मिलने के बाद प्रशासन ने कटेंनमेंट जोन घोषित किया था

सदर प्रखंड के गढ़ीरामपुर वार्ड नंबर-6 में काफी संख्या में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद प्रखंड प्रशासन द्वारा 6 जनवरी को माइक्रोकन्टेन्मेंट जोन बनाकर बांस बल्ला की घेराबंदी की गई थी। गुरुवार 13 जनवरी की शाम तक बांस बल्ला की घेराबंदी थी। परंतु गुरुवार की रात असामाजिक तत्वों द्वारा सारा बांस बल्ला उखाड़ कर चोरी कर लिया गया। शुक्रवार की सुबह उक्त वार्ड में बैरिकेट के स्थान पर एक भी बांस बल्ला नजर नहीं आ रहा था। बैरिकेटिंग का बांस बल्ला हट जाने के कारण लोगों को लगा कि कन्टेन्मेंट जोन हट गया है। और वहां होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों के अलावा बाहरी लोग भी काफी संख्या में संक्रमण से बेखौफ होकर आवाजाही करने लगे। ऐसे में संक्रमण रुकने की बजाय लगातार फैलते रहने और नया चैन बनने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। उक्त गांव में 14 काेरोना पॉजिटिव पाएजाने के बाद उसे माइक्रो कन्टेन्मेंट जोन बनाया गया था। जबकि उक्त गांव में लगातार संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। प्रत्येक दिन जारी होने वाली सूची में गढ़ीरामपुर और ब्राहमण टोला के लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं। 8 जनवरी को भी वहां 11 नए कोरोना पॉजिटिव मिले थे। प्रावधान के अनुसार किसी मोहल्ला या टोला में 02 या उससे अधिक संक्रमित पाए जाने की स्थिति में उक्त टोला को माइक्रो कन्टेन्मेंट जोन बनाते हुए वहां बाहरी लोगों का प्रवेश निषेद्य तथा वहां रहने वाले संक्रमितों का बाहरी इलाके मंे विचरण बंद करने के उद्देश्य से प्रशासन द्वारा बांस बल्ला से बेरिकेटिंग कर दिया जाता है।

असामाजिक तत्वों की पहचान कर होगी कार्रवाई
अत्यधिक संक्रमित क्षेत्र वाले माइक्रो कन्टेन्मेंट जोन से बैरिकेटिंग का बांस-बल्ला हटाया जाना गलत है। इसकी जानकारी ली जाएगी। बैरिकेटिंग स्थल से बांस-बल्ला हटाए जाने वालों की पहचान कर वैसे लोगों के विरूद्ध आपदा एक्ट के तहत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। -खुश्बू गुप्ता, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर मुंगेर

खबरें और भी हैं...