कोरोना से जंग की तैयारी:मॉकड्रिल में कोरोना मरीजों के इलाज की व्यवस्था मिली सही

मुंगेर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मॉकड्रिल के दौरान जायजा लेते डीएम व अन्य। - Dainik Bhaskar
मॉकड्रिल के दौरान जायजा लेते डीएम व अन्य।
  • जीएनएम डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल में संक्रमितों के इलाज के लिए हुई जांच

कोरोना मरीजों की संख्या में हुई बढ़ोतरी को देखते हुए संक्रमितों के इलाज की पूर्व तैयारी में स्वास्थ्य विभाग जुट गया है। शुक्रवार को पूरबसराय स्थित जीएनएम स्कूल मे बने 100 बेड के डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल में मॉकड्रिल कराकर डीएम नवीन कुमार ने संक्रमित मरीजों का इलाज कैसे किया जाएगा, इसका जायजा लिया। मॉकड्रिल के दौरान सायरन बजाते हुए एम्बुलेंस डेडिकेटेड अस्पताल के सामने आकर रूका। इसके बाद पीपीई कीट पहने एम्बुलेंस चालक, एमटी और अस्पताल के बाहर खड़े कर्मी संक्रमित मरीज को स्ट्रेचर पर लेकर आईसीयू वार्ड गए। जहां कार्डियेक मॉनिटर की सहायता से मरीज के पल्स, ऑक्सीजन लेवल सहित अन्य तरह की जांच की गई। इस दौरान डीएम ने वहां मौजूद डॉक्टर व जीएनएम को निर्देश दिया कि कोविड अस्पताल में एडमिट होने वाले सभी मरीजों का बीएसटी बना कर उस पर मरीज के आगमन की टाइमिंग, टेम्परेचर, ऑक्सीजन लेवल, पल्स रेट, कंडीशन सहित अन्य जानकारी दर्ज कर तब दवा लिखंेगे। सभी मरीज के बेड टिकट का पीडीएफ फाइल भी तैयार करना है। मॉकड्रिल के बाद डीएम ने बताया कि मरीजों का इलाज के लिए प्रशासन पूरी तरह तैयार है। जिला में जीएनएम स्कूल, तारापुर और सदर अस्पताल में 475 बेड का डेडिकेटेड कोविड हाॅस्पीटल तैयार किया गया है। जहां 300 मरीज को एक साथ ऑक्सीजन देकर इलाज की व्यवस्था की गई है। जीएनएम स्कूल में 100 बेड का आइसोलेशन वार्ड, 05 बेड का आईसीयू, 10 बेड का पिडियाट्रिक आईसीयू, 27 कन्सलटेटर, 06 वेंटीलेटर तथा 500 एलपीएम क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट तैयार है। यहां 04 डाक्टर और 04 नर्स की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है। फिलहाल जो भी संक्रमित मरीज मिले हैं, सभी नार्मल हैं।

पिडियाट्रिक आईसीयू का भी लिया जायजा
मौके पर सीएस डॉ. हरेन्द्र आलोक, उपाधीक्षक डॉ. पीएम सहाय, डीपीएम मो.नसीम रजी, कोविड अस्पताल के नोडल डा.फैजउद्दीन, प्रबंधक तौसिफ हसनैन सहित अन्य मौजूद थे। इसके बाद डीएम ने डेडिकेटेड कोविड अस्पताल परिसर में ही बने 10 बेड वाले पिडियाट्रिक आईसीयू का भी जायजा लिया। सिविल सर्जन ने बताया कि फिलहाल 07 बेड पर कार्डियेक मॉनिटर लगाया गया है 03 और मॉनिटर लगाया जाना है।

खबरें और भी हैं...