पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुंगेर के प्राइवेट हास्पिटल में बवाल:5 माह बाद भी मरीज ठीक नहीं हुआ तो परिजनों ने पैसे लौटाने की मांग, वीडियो बनाए जाने पर भड़के डाक्टर व कम्पाउंडर ने की धक्का-मुक्की

मुंगेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हॉस्पिटल के बाहर लगी लोगों भीड़। - Dainik Bhaskar
हॉस्पिटल के बाहर लगी लोगों भीड़।

मुंगेर के बेलन बाजार में जीवन अवतार सुपर स्पेशलिटी हॉस्पीटल में शनिवार की शाम 4 बजे ऑपरेशन की पैसे की मांग को लेकर मरीज के परिजनों ने जमकर बवाल किया। इसके बाद अस्पताल के डाक्टर व कर्मियों ने मिल कर हंगामा कर रहे लोगों काे धक्का देते हुए बाहर निकाल दिया। डॉक्टर ने कहा कि " हां हम तो मरीज की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करते ही हैं।" डाक्टर के यह कहे जाने पर जब परिजन इसका वीडियो बनाने लगे तो डाक्टर व कंपाउंडर ने मरीज व परिजनों को धक्का देकर नर्सिंग होम से बाहर कर दिया। डॉक्टर और तीमारदार में भिड़त होते हॉस्पिटल के बाहर काफी भीड़ लग गई। इसके बाद मरीज व परिजन कासिम बाजार थाना जाकर FIR दर्ज करवाई।

डॉक्टर ने कहा- समझाने के बावजूद नहीं मान रहे परिजन

मरीज धरहरा प्रखंड के बंगलवा कठौर निवासी उदय कुमार ने थाना में दिए आवेदन में इलाज के दौरान डाक्टर द्वारा लापरवाही बरतने, शिकायत करने नर्सिंग होम पहुंचने पर डाक्टर व कम्पाउंडर द्वारा गाली गलौज व धक्का मुक्की कर बाहर कर देने तथा मरीज की जिंदगी से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। इस मामले पर जीवन अवतार नर्सिंग होम के डाक्टर रंजीत कुमार ने इस संबंध में बताया कि आपरेशन के बाद मरीज का ट्रैक सिकुड़ जाने के कारण थोड़ी परेशानी हुई थी। आपरेशन के बाद इस तरह की परेशानी आती रहती है। लेकिन समझाने के बावजूद मरीज नहीं मान रहे थे और आपरेशन में खर्च हुए पैसे की मांग कर रहे थे। ऐसे में अगर सभी मरीज आपरेशन के बाद पैसा वापस मांगने लगे तो वह कहां से पैसा देंगे।

ऑपरेशन के लिए 50 हजार रुपया लिया था डॉक्टर ने

05 दिसंबर को हुआ था किडनी स्टोन का आपरेशन, तभी से थी परेशानी मरीज धरहरा बंगलवा कठौर निवासी 30 वर्षीय उदय कुमार राजकोट में रेलवे में नौकरी करता है। 05 दिसंबर को जीवन अवतार सुपर स्पेशलिटी हॉस्पीटल बेलन बाजार में डा. रंजीत कुमार ने उसके किडनी स्टोन का आपरेशन किया था। आपरेशन के बदले डाक्टर ने 50 हजार रुपया लिया था। सात दिन तक नर्सिंग होम में इलाज के बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। लेकिन आपरेशन के बाद से ही उसे पेशाब में तकलीफ हो रही थी। इस बीच डाक्टर रंजीत के कम्पाउंडर ने उसके पेशाब नली में लगभग 20 बार पाइप डाला जिससे उसे पेशाब करने में और दिक्कत होने लगी। इसके बाद 9 अप्रैल को पुन: वह डाक्टर रंजीत से मिले। डाक्टर ने एक महीने की दवा देकर कहा अब ठीक हो जाएगा।

पटना के डॉक्टर बोले- बार-बार पाइप डालने से हुआ इंफेक्शन

पटना के डाक्टर ने कहा पाइप डालने से हुआ है इंफेक्शन एक माह तक दवा खाने के बाद भी ठीक नहीं होने पर उदय कुमार पटना में यूरोलॉजिस्ट के यहां अपनी बीमारी दिखाई। तब डाक्टर ने बताया कि बार-बार पेशाब के नली में पाइप डालने से इंफेक्शन हुआ है। पटना में डाक्टर ने फिर से आपरेशन करने की बात कही। पटना के डाक्टर का रिपोर्ट लेकर डाक्टर रंजीत को दिखाने वह 29 मई शनिवार की शाम 4 बजे जीवन अवतार हॉस्पिटल पहुंचे। जहां कंपाउंडर ने बताया कि डाक्टर अभी तुरंत आपरेशन थियेटर से निकले हैं, कुछ देर बाद मिलेंगे। इस पर उनके साथ आए परिजन अपना आपा खाे बैठे और हल्ला करने लगे।

खबरें और भी हैं...