रो-रोकर बोल रही पत्नी- मेरा हीरो कहां चला गया?:दो साल पहले हुई थी शादी; वर्चस्व की लड़ाई में युवक की गोली मारकर हत्या

मुंगेर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पति की मौत के बाद बार-बार बेहोश हो जा रही है सोनम। - Dainik Bhaskar
पति की मौत के बाद बार-बार बेहोश हो जा रही है सोनम।

मुंगेर के कासिम बाजार में आपसी वर्चस्व में चली ताबड़तोड़ गोलीबारी में राजीव की मौत हो गई। घटना के बाद उसकी बार एक ही बात कह रही है कि मेरा हीरो कहां चला गया? मैं किसके भरोसे जिऊंगी। यह कहते हुए वह बार-बार बेहोश हो जा रही है। दरअसल, दो साल पहले राजीव की शादी ही हुई थी। पिता का सपना था बेटा रेलवे में नौकरी करे। ये सपना अधूरा ही रह गया।

बुधवार देर रात को कासिम बाजार थाना के संदलपुर में बुधवार की रात 10 बजे वर्चस्व को लेकर दो पक्ष के बीच हुई गोलीबारी में राजीव के सीने में गोली लगने से मौत हो गई। जबकि 5 लोग घायल हो गए। घायलों में एक महिला भी शामिल है। सभी घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कासिम बाजार थाना की पुलिस घटना की छानबीन में जुटी है, अस्पताल पहुंच कर घायलों से पूछताछ कर रही है।

राजीव की 2 वर्ष पूर्व हुई थी शादी

26 वर्षीय राजीव यादव की शादी 2 वर्ष पूर्व कासिम बाजार थाना क्षेत्र के छोटी मिर्जापुर में सोनम के साथ हुई थी। शादी के 2 वर्ष बाद ही पति की हत्या के बाद पत्नी सोनम का रो-रोकर बुरा हाल है। सदर अस्पताल परिसर में अपने पति के शव के पास बेसुध होकर रो रही है। रोते-रोते सोनम कह रही है कि मेरा हीरो मेरा राजा इस दुनिया में नहीं रहा। मैं किसके भरोसे इतना बड़ा जीवन का काटूंगी। मेरा हीरो कहां चला गया? मैं कैसे रहूंगी उसके बगैर। वहीं उसके बगल में मां का भी रो-रोकर बुरा हाल है।

पिता राजीव को रेलवे की नौकरी करते देखना चाहता था हसरत रह गई अधूरी

26 वर्षीय राजीव यादव का पिता उत्तम यादव झारखंड पुलिस के जवान है। पुलिस जवान ने बताया कि मेरा बेटा 26 साल का था। 26 वर्ष का करने में कई जतन किए थे। बड़े जतन से पाल पोस कर बड़ा किया था। धूम-धाम से शादी भी की थी। BA फर्स्ट क्लास से पास करने के बाद उसे ITI भी करवाया था। लेकिन हत्यारों ने मेरे बेटे की सीने में गोली मारकर हत्या कर दी। मैं उसे रेलवे की नौकरी करते देखना चाहता था। लेकिन मेरी हसरत अधूरी रह गई। यह कहते-कहते पिता की आंखें डबडबा गई।

पिता और भाई बोले- हत्यारे की गिरफ्तारी नहीं तो होगा आंदोलन

मृतक राजीव तीन भाई था। बड़ा भाई बिहार पुलिस का जवान अमित कुमार, मंझला भाई अमरजीत परीक्षा की तैयारी कर रहा था। तो राजीव भी ITI करते हुए प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी में जुटा था। राजीव की हत्या के बाद पिता उत्तम यादव एवं भाई अमित यादव ने कहा कि घटना में शामिल अपराधियों की जल्द से जल्द प्रशासन गिरफ्तार करें। नहीं तो हम लोग आंदोलन करने के लिए सड़क पर उतरने को बाध्य होंगे।