सामाजिक पहल:कोरोना मृतकों के दाह-संस्कार में करेंगे निस्वार्थ मदद

मुंगेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में मौजूद राजा कर्ण मीर कासिम समिति के सदस्य। - Dainik Bhaskar
बैठक में मौजूद राजा कर्ण मीर कासिम समिति के सदस्य।
  • कोरोना से उपजे विपरीत हालात में मदद को आगे आए राजा कर्ण मीर कासिम संस्था के सदस्य

कोरोना की चपेट में आकर जान गंवाने वाले लोगों का सही से दाह-संस्कार भी नहीं हो रहा है। कोविड मृतकों की दाह-संस्कार में आ रही इस दिक्कत को दूर करने के लिए सामाजिक संस्थाएं आगे आ रही है। गुरुवार को राजा कर्ण मीर कासिम समिति के पदाधिकारियों ने बैठक की। बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए कम लोग ही मौजूद हुए।
वहीं बैठक में आपसी चर्चा के बाद कमेटी के पदाधिकारियों ने निर्णय लिया कि कोरोना महामारी को लेकर अगर प्रशासनिक स्तर या सामाजिक स्तर पर अंतिम संस्कार हेतु कोई परेशानी हो तो कमेटी के सदस्य निस्वार्थ भाव से समिति अंतिम संस्कार हेतु सहयोग करेगी।
मौके पर समिति के अध्यक्ष जफर अहमद ने कहा कि अभी कोरोना महामारी के कारण जीवन अस्त-ब्यस्त हो गयी है। कोविड 19 के चपेट में आने से रोजाना लोगों की मौत हो रही है। लेकिन कोरोना से मरे हुए शव का अंतिम संस्कार करने में परिजनों को काफी परेशानी आ रही है। प्रशासनिक अधिकारी भी इस बीमारी के कारण दिन रात अपनी जिम्म्मेवारी को निभा रहे हैं। लोगों को सुरक्षित रखने के लिए लगातार अलग अलग तरीके से लोगों को जागरूक कर रहे हैं। जिनके परिजन कोरोना से संक्रमित हैं। उस परिवार के सदस्य मरीज के ऑक्सीजन के लिए दिन-रात इधर उधर भटकते नजर आ रहे हैं। ऐसे लोगों के लिए एवं जिला प्रशासन के सहयोग के लिए राजा कर्ण मीर कासिम समिति के सदस्य हमेशा कदम से कदम मिलाने के सहयोग के लिए खड़ा है।
मानव सेवा से बढ़कर कोई सेवा नहीं: बुखारी
जब भी जिसको जरूरत पड़े हमलोगों की सहायता ले सकते हैं। वहीं कमेटी के उपाध्यक्ष मौलाना अब्दुल्लाह बुखारी साहब ने कहा कि मानव सेवा से बढ़कर कोई सेवा नहीं। जो संकट और विकट परिस्थिति में पीड़ित का साथ देते हैं उस कमेटी के सदस्य होने के नाते हमलोग आमलोगों के सहयोग के लिए हमेशा खड़ा हैं। मौके पर कमेटी के सचिव सचिव एहतेशाम आलम, संयुक्त सचिव मोहम्मद असलम, हयात आलम मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...