पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जांच मशीन रहते पटना दौड़ रहे 5 जिलों के लोग:9 महीने से RT-PCR मशीन धूल फांक रही, कभी जगह तो कभी कर्मचारी की कमी का हवाला देकर नहीं हो रही जिले में जांच

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुंगेर सदर अस्पताल में धूल फांकती RT-PCR मशीन। - Dainik Bhaskar
मुंगेर सदर अस्पताल में धूल फांकती RT-PCR मशीन।

कोरोना महामारी में स्वास्थ्य विभाग भले अपने अस्पतालों में उपकरण मुहैया करा दे, लेकिन उनके कर्मचारी और अधिकारी अक्सर उसमें पलीता लगाने को तैयार रहते हैं। मुंगेर में स्वास्थ्य विभाग की उदासीनता का एक नमूना सामने आया है। नौ महीने पहले जिले में RT-PCR मशीन भेज दी गई थी। कोरोना की भयावहता को देखते हुए विभाग ने 2020 के सितम्बर महीने में इसे भेज दिया था, ताकि RT-PCR मशीन से लोगों की जांच हो सके, लेकिन मशीन के रहते इसे चालू नहीं किया गया। मरीजों का RT-PCR सैंपल जांच के लिए पटना भेजा जाता है। इसके लिए मरीजों को 10 से 15 दिनों का इंतजार करना पड़ता है। अप्रैल से मई के बीच 36,700 सैंपलों को RT-PCR जांच के लिए पटना भेजा चुका है।

जांच के लिए पोस्टमार्टम हाउस का नया भवन
स्वास्थ्य विभाग द्वारा जब मुंगेर को RT-PCR मशीन के लिए जगह उपलब्ध कराने को कहा गया तो जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा नवनिर्मित पोस्टमार्टम हाउस का भवन उपलब्ध कराया गया। जब जिले को RT-PCR मशीन मिल गई तो उसे पोस्टमार्टम हाउस का अस्तित्व बचाने के लिए यक्ष्मा केंद्र के भवन में स्थापित करने की बात कही गई। उसके बाद पिछले पांच महीने से स्वास्थ्य विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय के ऊपरी तल पर RT-PCR मशीन को स्थापित करने की बात चल रही है, लेकिन अब तक सारी बातें सिर्फ हवा-हवाई साबित हुई हैं।

सिविल सर्जन ने दिया अनोखा जवाब

प्रमंडलीय मुख्यालय मुंगेर में RT-PCR मशीन से कोविड-19 का जांच आरंभ हो जाने से न सिर्फ मुंगेर जिले के लोगों को लाभ मिलता, बल्कि मुंगेर प्रमंडल के जमुई, खगड़िया, लखीसराय, बेगूसराय और शेखपुरा जिला के लोगों को भी लाभ मिलता। अभी तक मशीन क्यों नहीं लगाई गई, इस पर मुंगेर सिविल सर्जन डॉ हरेंद्र कुमार आलोक ने कहा कि इंस्टॉल करने वाले को कोरोना हो गया था। मशीन मेरे आने से पहले आई, जिसे वो लगवा रहे हैं। RT-PCR मशीन को स्थापित करने के लिए जगह का चयन किया जा चुका है। टेक्नीशियन और अन्य कर्मियों की नियुक्ति प्रक्रिया की जा रही है। जिले में जल्द से जल्द RT-PCR मशीन से जांच शुरू हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...