पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रिपोर्ट पर घमासान:एक दूसरे को बचाने में जुटे डॉक्टर व अधिकारी, पटना भेजा जाएगा सैंपल

मुंगेर/असरगंज10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चौरगांव में आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल कलेक्ट करते स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
चौरगांव में आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल कलेक्ट करते स्वास्थ्यकर्मी।
  • सभी संदिग्धों को होम आइसोलेशन में रहने का निर्देश
  • आरटीपीसीआर खत्म करेगा डॉक्टर और अधिकारी का संशय

प्रखंड के लालबहादुर शास्त्री किसान उच्च विद्यालय ममई में 25 छात्र कोरोना पॉजिटिव हैं या नहीं इस विवाद के समाधान के लिए अब आरटीपीसीआर से छात्रों के सैंपल की जांच की जाएगी। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही अब यह स्पष्ट हो पाएगा कि पीएचसी प्रभारी का बयान सही है या फिर जांच करने वाली डॉक्टर का दावा। बहरहाल, जिला प्रशासन ने संक्रमण के खतरे की संभावना को देखते हुए सभी संदिग्धों को होम आइसोलेशन में रहने का निर्देश दिया है। इधर, सिविल सर्जन डॉ. अजय कुमार भारती ने अधिकारी और डॉक्टर को बचाने के लिए एंटीजन किट से आने वाली रिपोर्ट को ही सही मानने से इंकार कर दिया है।
पटना से आने वाली रिपोर्ट की सही
सिविल सर्जन बताते हैं कि सभी छात्रों व शिक्षकों का सैंपल कलेक्ट कर आरटीपीसीआर जांच के लिए पटना भेजा गया है। पटना से जो जांच रिपोर्ट आएगी उसे ही सही माना जाएगा। ऐसे में बड़ा सवाल यह कि जिले में प्रतिदिन रैपिड एंटीजेन कीट से 1900 से 2000 जांच किया जा रहा है, तो इसे कैसे सही माना जाए। जबकि जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है, दूसरी ओर संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3895 हाे चुकी है। दूसरा सबसे बड़ा सवाल यह कि जब केवल आरटीपीसीआर जांच ही कोविड पॉजिटिव होने सत्यता प्रमाणित कर सकता है तो इतने व्यापक पैमाने पर रैपिड एंटीजन किट से जांच क्याें कराई जा रही है।

गांव में खाेजकर 6 बच्चों का लिया गया सैंपल
असरगंज प्रखंड के ममई उच्च विद्यालय में 25 छात्र-छात्राओं व शिक्षकों का रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव और बाद निगेटिव पाए गए के बाद शुक्रवार को दुबारा आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिया गया था। जिसमें शुक्रवार की शाम 18 लोगों का ही सैंपल कलेक्ट हो पाया था। शनिवार को शेष बचे छात्र-छात्राओं का आरटीपीसीआर जांच के लिए प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. ललन कुमार के नेतृत्व में टीम स्कूल पहुंची। इस दौरान चौरगांव में खोज-खोज कर शेष बचे 6 छात्र-छात्राओं का सैंपल आरटीपीसीआर जांच के लिए कलेक्ट किया गया। इसके बाद जिलाधिकारी के निर्देश पर सभी बच्चों व शिक्षकों का आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिया गया।

चिकित्सा पदाधिकारी से मांगी गई जानकारी
असरगंज प्रखंड के चिकित्सा पदाधिकारी ललन कुमार और जांच करने वाली चिकित्सक डॉ वंदना के अलग-अलग बयान ने जांच प्रक्रिया पर ही सवाल खड़ा कर दिया गया है। इसमें एक ओर जहां चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा इसे मानवीय भूल बताया गया है. वहीं जांच करने वाली चिकित्सक द्वारा के अनुसार रैपिट एंटीजेन टेस्ट कीट पर ही सवाल खड़ा किया गया है। हालांकि प्रभारी सिविल सर्जन ने मामला बढ़ता देख चिकित्सा पदाधिकारी से मामले की जानकारी मांगी गई है।

आरटीपीसीआर रिपोर्ट सही मानी जाएगी
सभी संदिग्ध छात्र-छात्रा व शिक्षकों का सैंपल कलेक्ट कर आरटीपीसीआर जांच के लिए पटना भेजा गया है। पटना से जो जांच िरपेार्ट आता है, उसे ही सही माना जाएगा। फिलहाल संक्रमण से बचाव के लिए सभी बच्चो व शिक्षकों को होम आईसोलेशन में रहने की हिदायत दी गई है।
-डाॅ.अजय कुमार भारती, सीएस।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser