पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हाईकोर्ट के फैसले पर अनुराग के परिजनों ने जताई संतुष्टि:पिता बोले- छह माह की जांच में मुंगेर पुलिस ने कुछ नहीं किया, दोषियों को सजा मिलने पर ही मिलेगा न्याय

मुंगेर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 26 अक्टूबर को विजयादशमी की रात प्रतिमा विसर्जन के दौरान गोलीबारी में हुई थी अनुराग पोद्दार की मौत

विजयादशमी की रात प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुई गोलीबारी मामले में बुधवार को पटना हाईकोर्ट ने एक अहम फैसला दिया है। हाईकोर्ट के फैसले के अनुसार मामले की जांच कर रही सीआईडी अगले एक महीने तक कोर्ट की निगरानी में जांच कर रिपोर्ट सौंपेगी। साथ ही कोर्ट ने जांच लंबित रखने के आरोप में मामले से जुड़े मुंगेर एसपी और अन्य अधिकारियों के तबादले का आदेश दिया है।

पीड़ित परिवार को 10 लाख का मुआवजा देने का भी आदेश दिया गया है। कोर्ट के इस फैसले से अनुराग के परिजनों ने संतुष्टि जताई है। अनुराग के पिता अमरनाथ पोद्धार ने कहा कि घटना के छह महीने बाद आज पहली बार थोड़ी संतुष्टि मिली है। बीते छह महीनों की जांच में मुंगेर पुलिस ने कुछ नहीं किया। सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक और हाईकोर्ट के वकील मानस प्रकाश के प्रयास से अब न्याय मिलने का रास्ता साफ होता दिख रहा है।

हमारी लड़ाई मुंगेर प्रशासन के साथ-साथ राज्य सरकार से: अमरनाथ पोद्धार

अमरनाथ पोद्दार ने कहा कि घटना की जांच के बाबत पूछे जाने पर बीते छह माह में हर बार मुंगेर पुलिस के वरीय अधिकारी हमलोगों को टरकाते रहे। हर बार कोरा आश्वासन दिया गया। लेकिन छह माह बाद भी यह क्लियर नहीं हुआ कि अनुराग को गोली किसने और क्यों मारी थी।

घटना के बाद जिस एसपी को चुनाव आयोग ने हटाया, उसे कुछ ही महीने बाद दूसरे जिले में पोस्टिंग मिल गई। लेकिन हमलोगों को न्याय तो दूर सही ढंग से जांच भी शुरू नहीं हुई। उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई प्रशासन के साथ-साथ सरकार से है।

6 जनवरी को क्रिमिनल रिट किया गया था दायर
बुधवार को केस की सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने मुंगेर के वर्तमान एसपी, कोतवाली थाना प्रभारी और इस केस से जुड़े तमाम पुलिस अफसरों को ट्रांसफर करने का आदेश दिया है। अनुराग के पिता अमरनाथ ने 6 जनवरी 2021 को पटना हाईकोर्ट में एक क्रिमिनल रिट दाखिल किया था। मानस प्रकाश इस केस में अमरनाथ पोद्दार के एडवोकेट हैं।

प्रमोद कुमार के नेतृत्व में सीआईडी टीम करेगी जांच

वकीन मानस प्रकाश ने बताया कि सीआईडी द्वारा इस केस की जांच के लिए 8 सदस्यों वाली एक एसआईटी बनाई गई है। डिप्टी एसपी प्रमोद कुमार राय इसे लीड करेंगे। लेकिन, इसमें खास बात यह है कि सीआईडी की पूरी जांच हाईकोर्ट की मॉनिटरिंग में होगी। टीम को एक महीने में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपने को भी कहा गया है।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हाईकोर्ट में शुरू हुई सुनवाई अमरनाथ पोद्दार ने पटना हाइकोर्ट में एडवोकेट मानस प्रकाश के जरिए क्रिमिनल रिट 6 जनवरी 2021 को फ़ाइल किया था। साथ ही अर्जेंट हियरिंग के लिए मेंशन किया था। लेकिन, ऐसा हुआ नहीं। जिसके बाद अनुराग की मां ने जनवरी में ही एडवोकेट अलख आलोक श्रीवास्तव के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट में एक अपील की थी। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हुई।

विसर्जन की परंपरा तोड़े जाने पर भड़का था विवाद उल्लेखनी हो कि प्रतिमा विसर्जन यात्रा के दौरान पुलिस अधिकारी व जवान परंपरा तोड़ते हुए बड़ी दुर्गा प्रतिमा के पहले ही अन्य प्रतिमाओं को विसर्जित कराने पर अड़े थे। जिस दौरान कोतवाली थाना क्षेत्र के दीनदयाल चौक के निकट पुलिस व श्रद्धालुओं के बीच झड़प शुरू हुई थी। पुलिस के लाठीचार्ज के विरोध स्वरूप श्रद्धालुओं ने पथराव किया जिसे रोकने के लिए पुलिस ने गोली चलाई थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें