पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध:केंद्र सरकार के निजीकरण की नीति के विरोध में जाप सदस्यों ने दिया धरना

मुंगेर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहीद स्मारक के पास एक दिवसीय धरने पर बैठे जाप कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
शहीद स्मारक के पास एक दिवसीय धरने पर बैठे जाप कार्यकर्ता।
  • जाप कार्यकर्ताओं ने डीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को किला परिसर स्थित शहीद स्मारक के सामने एक दिवसीय धरना दिया। धरना का नेतृत्व जिलाध्यक्ष पप्पू कुमार ने किया। पार्टी के कार्यकर्ता केंद्र की निजीकरण की नीति का विरोध कर रहे थे। इसके साथ ही धरना के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा गया। धरना को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि फैसल अहमद रूमी ने कहा कि आजादी के बाद भारतीय जनता की गाढ़ी कमाई से प्राप्त विभिन्न प्रकार के करों से कई तरह की राष्ट्रीय एवं सार्वजनिक संपत्तियों का निर्माण हुआ। इन संस्थाओं में संविधान की लोक कल्याणकारी भावनाओं को ध्यान में रखा गया था। लेकिन विगत 7 वर्षों से सरकार की उदासीनता एवं अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अकर्मण्यता की वजह से इन संस्थाओं का ह्रास हुआ। यदि सरकार चाहती तो अपने दृढ़ संकल्प एवं कठोर अनुसरण से इसमें सुधार किया जा सकता था। लेकिन सरकार ने अपने दोषों को छुपाने के लिए एवं देश के बड़े-बड़े उद्योगपतियों प्रभाव में आकर उनके हाथों जनोपयोगी राष्ट्रीय संपत्ति का मौद्रीकरण एवं निजीकरण पर उतारु है। इन संस्थाओं में कार्यरत कर्मचारी का भी शोषन होना निश्चित है। इसका विरोध पार्टी लोकतांत्रिक तरीके से चरणबद्ध रूप से करती रहेगी। धरना में संजय पोद्दार, बंटी यादव, विपिन कुमार, रितेश, अमित, अमरनाथ, विकास, शमा अंजुम आदि शामिल थे।

खबरें और भी हैं...