कवायद:32.16 करोड़ की लागत से 100 बेड का मॉडल सदर अस्पताल बनेगा, जनवरी से शुरू होगा निर्माण कार्य

मुंगेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंगलवार को आयोजित ऑनलाइन शिलान्यास समारोह में मौजूद अधिकारी। - Dainik Bhaskar
मंगलवार को आयोजित ऑनलाइन शिलान्यास समारोह में मौजूद अधिकारी।
  • सीएम नीतीश कुमार ने पटना से किया ऑनलाइन शिलान्यास, मॉडल अस्पताल में होगी अत्याधुनिक सुविधाएं

जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 100 बेड के मॉडल सदर अस्पताल भवन का आॅनलाइन शिलान्यास कर जिलेवासियों से किया गया अपना वादा को पूरा कर दिया। मंगलवार को मुख्यमंत्री ने मॉडल अस्पताल भवन का ऑनलाइन शिलान्यास किया। सदर अस्पताल में 100 बेड का मॉडल अस्पताल भवन 32.18 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा, जिसकी निविदा की प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है। नए अस्पताल भवन का निर्माण सदर अस्पताल परिसर स्थित पुरुष वार्ड व इमरजेंसी वार्ड के पुराने भवन को तोड़ कर निर्माण एजेंसी द्वारा जनवरी 2020 से निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। जिसमें अत्याधुनिक इमरजेंसी व ओपीडी सहित इंडोर वार्ड तथा सभी तरह के जांच की सुविधा के लिए भवन बनेगा। ऑनलाइन शिलान्यास समारोह का लाइव प्रसारण समाहरणालय स्थित एनआईटी कक्ष में किया गया। जहां मुंगेर विधायक प्रणव कुमार, एडीएम विद्यानंद सिंह, सिविल सर्जन डा. हरेन्द्र कुमार आलोक, डीपीएम मो.नसीम रजी के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे। समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने सरकार द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र मंे किए गए बेहतर कार्यों की उपलब्धियों को बताते हुए बेहतर कार्य करने वाले स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों एवं कर्मियों को सम्मानित भी किया गया। अस्पताल बनने के बाद से मुंगेर के मरीजों को रेफर करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

सबसे शुरू में होगा इमरजेंसी वार्ड
वर्तमान में सदर अस्पताल से बेहतर इलाज के लिए मरीजों को भागलपुर जेएलएनएमसीएच और पटना रेफर किया जाता है। परंतु मॉडल अस्पताल बन जाने के बाद प्रमंडल के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल सकेगा। मॉडल अस्पताल भवन के प्रस्तावित प्रारूप के अनुसार परिसर में सबसे पहले 9 बेड का अत्याधुनिक इमरजेंसी वार्ड बनेगा जिसमें 04 बेड रेड जोन तथा 05 बेड येलो जोन के लिए रहेगा। इससे सटे 8255x5000 मीटर का ओटी (ऑपरेशन थियेटर) बनेगा।

इमरजेंसी वार्ड से सटे बनेगा ओपीडी भवन
इमरजेंसी वार्ड से सटे स्टेरलाइज कॉरिडोर, डॉक्टर रूम, नर्स रूम, चेंजिंग रूम, इक्यूपमेंट रूम, वन स्टॉप सेंटर, प्लास्टर रूम तथा रिकार्ड रूम बनेगा। इमरजेंसी वार्ड से सटे ओपीडी भवन रहेगा। जिसमें 8660x7780 मीटर का रजिस्ट्रेशन वेटिंग एरिया, रजिस्ट्रेशन काउंटर, मेडिसीन काउंटर, सर्जरी वार्ड, के अलावा आयुष, फिजिशियन, डेंटल, ईएनटी सहित अन्य चिकित्सक का कक्ष रहेगा। ओपीडी से सटे रेडियोलॉजिस्ट कक्ष में एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, सिटी स्कैन के अलावा अन्य तरह की जांच के लिए जांच घर बनाया जाएगा।

एक छत के नीचे मरीजों को मिलेगी सभी सुविधाएं
माॅडल अस्पताल भवन के लिए निविदा की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। मॉडल सदर अस्पताल भवन का निर्माण स्वास्थ्य विभाग की निर्माण एजेंसी बीएमएसआईसीएल द्वारा टाइप-एक सेप में किया जाएगा। मॉडल अस्पताल भवन के डिजाइन पर मुहर लग गई है। मॉडल अस्पताल भवन में एक ही छत के नीचे सभी ओपीडी, सभी विशेषज्ञ चिकित्सक का कक्ष, तथा एमआरआइ से लेकर हर तरह के जांच की सुविधा होगी।

सभी बीमारियों के विशेषज्ञ डॉक्टर भी रहेंगे उपलब्ध
सदर अस्पताल में 100 बेड वाले मॉडल अस्पताल का निर्माण हो जाने के बाद जिले के गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिल सकेगा। भवन में इमरजेंसी कक्ष के अलावा सभी वार्ड में 20 से 25 बेड मरीजों के लिए रहेंगे। हर तरह की जांच की सुविधा के अलावा सभी बीमारियों के विशेषज्ञ डॉक्टर रहेंगे। मरीजों को हायर सेंटर जाने की जरूरत नहीं होगी।
-प्रणव कुमार, भाजपा विधायक

मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा यहीं मिल सकेगी
स्वास्थ्य विभाग की निर्माण एजेंसी बिहार मेडिकल सर्विस एंड इंफ्रास्टचर कारपोरेशन लिमिटेड द्वारा 100 बेड के मॉडल अस्पताल भवन का निर्माण किया जाना है। निर्माण एजेंसी द्वारा जनवरी 2022 से निर्माण कार्य शुरू करने की बात कही गई है। मॉडल अस्पताल बनने के बाद मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल सकेगा।
-डॉ. हरेंद्र आलोक, सीएस

खबरें और भी हैं...