पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Munger
  • Munger Violence During Idol Immersion; Now CID Will Investigate The Case In The Monitoring Of Highcourt, SP And Officers Related To The Case To Be Transfered

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर एक्सक्लूसिव- हाईकोर्ट की मॉनिटरिंग में होगी CID जांच:मुंगेर मूर्ति विसर्जन गोलीकांड से जुड़े अफसरों के साथ वर्तमान SP को भी बदलने का आदेश

पटनाएक महीने पहलेलेखक: अमित जायसवाल
  • कॉपी लिंक
पिछली दुर्गापूजा में गोलीकांड के बाद मुंगेर में बड़ा बवाल हुआ था, कई जगह आगजनी हुई थी। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
पिछली दुर्गापूजा में गोलीकांड के बाद मुंगेर में बड़ा बवाल हुआ था, कई जगह आगजनी हुई थी। (फाइल फोटो)

मुंगेर में पिछले साल अक्टूबर में मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान बड़ा कांड हुआ था। गोलीबारी में 18 साल के अनुराग पोद्दार की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने तो कुछ खास कार्रवाई नहीं की, लेकिन पटना हाईकोर्ट की तरफ से इस मामले में बुधवार को एक बड़ा आदेश आया है। इस केस की सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने सरकार के रवैये और पुलिस की जांच को लेकर सख्त नाराजगी जाहिर की। अदालत ने मुंगेर के वर्तमान SP, कोतवाली थाना प्रभारी और इस केस से जुड़े तमाम पुलिस अफसरों को ट्रांसफर करने का आदेश दिया है। साथ ही, यह भी आदेश दिया कि CID की जांच अब हाईकोर्ट की मॉनिटरिंग में होगी।

मृतक के पिता ने हाईकोर्ट में दाखिल किया था क्रिमिनल रिट

पिछले साल के अक्टूबर से लेकर इस साल के फरवरी महीने तक पुलिस की जांच में किसी प्रकार का कोई ठोस नतीजा सामने नहीं आया। करीब 4 महीने का वक्त पुलिस ने यूं ही निकाल दिया। दरअसल, अनुराग पोद्दार के पिता अमरनाथ पोद्दार ने 6 जनवरी 2021 को पटना हाईकोर्ट में एक क्रिमिनल रिट दाखिल किया था। मानस प्रकाश इस केस में अमरनाथ पोद्दार के एडवोकेट हैं। इनके अनुसार SP और इस केस से जुडे़ पुलिस वालों को मुंगेर से हटाए जाने के साथ ही दो बड़े निर्देश जस्टिस राजीव रंजन प्रसाद की बेंच की तरफ से दिए गए हैं।

लिपि की जगह मानवजीत बने थे SP
जब मुंगेर में गोलीकांड हुआ तो वहां हालात बेकाबू थे। शांति-व्यवस्था बहाल कराने और पूरे मामले की जांच करने के लिए अक्टूबर महीने में ही राज्य सरकार ने उस वक्त की SP लिपि सिंह को हटाकर मानवजीत सिंह ढिल्लों को मुंगेर का नया SP बनाया था। लेकिन 4 महीने तक इस संवेदनशील केस में पुलिस की जांच कुछ खास नहीं हुई। इसके बाद अमरनाथ पोद्दार पटना हाईकोर्ट की शरण में पहुंचे थे। अब इस केस की जांच CID के अधिकारी करेंगे। इसके लिए 8 सदस्यों वाली एक SIT बनाई गई है। DSP प्रमोद कुमार राय इसे लीड करेंगे। लेकिन, इसमें खास बात यह है कि CID की पूरी जांच अब हाईकोर्ट की मॉनिटरिंग में होगी। इनकी टीम को एक महीने में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपने को भी कहा गया है। मानस प्रसाद के अनुसार एडवोकेट जनरल के माध्यम से CID ने अपनी तरफ से 54 प्वाइंट कोर्ट को बताए हैं, जिन पर वह अपनी जांच करेगी।

तत्काल देना होगा 10 लाख का मुआवजा
एडवोकेट के अनुसार अपनी सुनवाई के दौरान कोर्ट ने माना कि गोलीकांड में अनुराग की कोई संलिप्तता नहीं थी। इस कारण इसके पिता को 10 लाख का मुआवजा तत्काल दिया जाए। हालांकि, पिता की तरफ से 5 करोड़ का मुआवजा देने और पूरे मामले की जांच CBI से कराने की मांग की गई थी। यह केस अभी चलेगा। एक महीने के बाद CID क्या रिपोर्ट देती है, वह देखा जाएगा। पिता के एडवोकेट को कोर्ट ने कहा है कि अगर जांच के दरम्यान आपको कुछ पता चलता है तो आप उसे कोर्ट की नॉलेज में दे सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हाईकोर्ट में शुरू हुई थी सुनवाई
अमरनाथ पोद्दार ने पटना हाइकोर्ट में एडवोकेट मानस प्रकाश के जरिए क्रिमिनल रिट 6 जनवरी 2021 को फ़ाइल किया था। साथ ही अर्जेंट हियरिंग के लिए मेंशन किया था। लेकिन, ऐसा हुआ नहीं जिसके बाद अनुराग की मां ने जनवरी महीने में ही एडवोकेट अलख आलोक श्रीवास्तव के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट में एक अपील की थी। इस पर 25 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने 2 महीने में पिता की अपील पर सुनवाई पूरी करने का निर्देश पटना हाईकोर्ट को दिया था। तब जाकर यहां इस मामले में सनुवाई शुरू हुई। पहली सुनवाई 12 फरवरी को हुई थी। तब राज्य सरकार से 10 मार्च तक इस केस में जवाब मांगा था। एडवोकेट के अनुसार कोर्ट में जवाब दाखिल करने से पहले ही राज्य सरकार ने इस केस की जांच CID को खुद से सौंप दी थी। साथ ही अपने जवाब में बताया था कि वारदात स्थल से बरामद एमुनेशन को जांच के लिए FSL के पास भेज दिया गया है।

2009 बैच के IPS अधिकारी हैं ढिल्लों

मुंगेर के वर्तमान SP मानवजीत सिंह ढिल्लों हैं। 2009 बैच के इस IPS अधिकारी को बिहार सरकार ने मुंगेर के पुलिस कप्तान की जिम्मेदारी पिछले साल 29 अक्टूबर को सौंपी थी। उससे पहले वो बिहार STF और वैशाली SP की जिम्मेवारी संभाल चुके हैं। जब मुंगेर में बवाल चल रहा था तो आननफानन में इन्हें पटना से हेलीकॉप्टर के जरिए नई DM रचना पाटिल के साथ वहां भेजा गया था।

मुंगेर गोलीकांड की पूरी कहानी इन लिंक्स पर पढ़िए

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें