पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैंपस अलर्ट:विश्वविद्यालय में शीघ्र खुलेगा पीजी विभाग एक सप्ताह में सरकार को भेजा जाएगा प्रस्ताव

मुंगेर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुंगेर विश्व विद्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देतीं कुलपती श्यामा राय। - Dainik Bhaskar
मुंगेर विश्व विद्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देतीं कुलपती श्यामा राय।
  • सिडिंकेट सभागार में आयोजित पीसी में कुलपति ने दी जानकारी
  • बीएड का चार वर्षीय इंटीग्रेटड कोर्स को शुरू करने का चल रहा विचार

विश्वविद्यालय में काफी समस्याएं हैं, लेकिन इन सभी समस्याओं के बीच पॉजिटिव सोच के साथ ही विश्वविद्यालय का विकास संभव है। इसमें शिक्षक, छात्र, मीडिया और सभी अधिकारियों को एक साथ मिलकर कार्य करना होगा। क्योंकि समस्याओं के बीच आगे बढ़ाने से ही हमारी कार्य क्षमता का विकास होता है। विश्वविद्यालय होने का अर्थ ही है पीजी और शोध कार्य होना। इसलिए जल्द ही विश्वविद्यालय में पीजी विभाग खोले जाएंगे। इसका कार्य प्रगति पर है। लंबित शैक्षणिक सत्रों को भी नियमित करने का प्रयास किया जा रहा है। यह बातें कुलपति प्रो. श्यामा राय ने मंगलवार को सिडिंकेट सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कही। मौके पर प्रभारी प्रति कुलपति सह सोशल साइंस के डीन डा. प्रभात कुमार मौजूद थे। कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय के पास न पीजी विभाग है और न ही यहां शोध कार्य ही हो रहा है। ऐसे में यह विश्वविद्यालय की श्रेणी में नहीं आ पता है। इसके लिए जल्द ही पीजी विभाग को खोला जाएगा। फिर शोध भी आरंभ किया जाएगा। पीजी विभाग शुरु करने को लिए कला, विज्ञान तथा वाणिज्य के डीन को 15 दिनों में सिलेबस तैयार कर विश्वविद्यालय को उपलब्ध कराने को कहा गया है। फिर एकेडमिक काउंसिल से प्रस्ताव पारित करे उसे स्वीकृति के लिए सरकार को भेजा जाएगा। जबकि पीजी विभाग खुलने के बाद ही शोध कार्य आरंभ किया जाएगा। इसके बाद विश्वविद्यालय का यूजीसी में रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा। तब जाकर कहीं विश्वविद्यालय को अन्य वित्तीय संस्थाओं से फंड मिल सकेगा। एचएस कालेज हवेली खड़गपुर में जल्द ही शिक्षकेत्तर कर्मी को पदस्थापित किया जाएगा। जबकि कालेजों में प्रयोगशाला और लाइब्रेरी को ठीक करने के लिए सभी कॉलेजों को फंड दिया गया था। लेकिन केवल चार कालेज से ही इस पर प्रस्ताव आया है। ऐसे में अब विश्वविद्यालय अपने स्तर से सभी कालेजों को पुस्तक तथा प्रयोगशाला उपकरण उपलब्ध कराएगा।

रोजगारोन्नमुखी कोर्स के लिए छात्र-छात्राओं को करेंगे प्रेरित
विश्वविद्यालय में केवल ट्रेडिशनल पढ़ाई कराना पुरानी बात हो गई। वर्तमान समय में रोजगारोन्नमुखी कोर्स छात्र-छात्राओं के लिए आवश्यक है। ताकि छात्र-छात्राएं अपनी शिक्षा पूरी कर रोजगार सृजित कर सकें। इसके लिए रोजगार परक कोर्सों को बढ़ावा दिया जाएगा। वहीं विश्वविद्यालय बीएड का चार वर्षीय इंटीग्रेटड कोर्स भी आरंभ करने पर विचार कर रहा है। जिसे पहले विश्वविद्यालय में आरंभ किया जाएगा। इसके बाद कॉलेजों से इसके लिए प्रस्ताव मांगा जाएगा। अपने छात्र-छात्राओें को कालेजों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता है। माना कि पूर्व से विश्वविद्यालय में कई प्रकार की समस्याएं हैं। लेकिन पुरानी बातों को भूलकर आगे बढ़ना और विवि को ऊंचाईयों पर ले जाना ही प्रमुखता है। विश्ववविद्यालय के कई कालेजों में शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मियों की कमी है। इंफ्रास्टक्रचर की कमी है। जिसे ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है।

उपमुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपते अभाविप के सदस्य।
उपमुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपते अभाविप के सदस्य।

असाइमेंट के आधार पर लंबित सत्रों को किया जाएगा नियमित
कोविड-19 के कारण सभी विश्वविद्यालयों में सत्र अनियमित हैं। ऐसे में विश्वविद्यालय के लंबित सत्रों को नियमित करने का प्रयास किया जा रहा है। पेंडमिक काे लेकर यूजीसी द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत एसाइनमेंट परीक्षा के माध्यम से सत्र को नियमित किया जाएगा। इसके तहत परीक्षार्थियों का कालेज में ही परीक्षा संपन्न कराया जाएगा। जिसका मूल्यांकन भी कालेज स्तर पर ही पूरा कर परिणाम जारी किया जाएगा। हालांकि एसाइनमेंट परीक्षा स्नातक तथा पीजी के अंतिम वर्ष या वोकसनल विषयों के लिए नहीं लिया जा सकता। इस प्रकार की परीक्षा से सत्रों को नियमित करने में आसानी होगी।

विश्वविद्यालय के लिए जमीन अधिग्रहण व एनसीसी बटालियन के तबादले पर रोक को लेे सौंपा ज्ञापन
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद नगर इकाई का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को मुंगेर दौरे पर पहुंचे राज्य के उप मुख्यमंत्री सह प्रभारी मंत्री तारकिशोर प्रसाद से मिल उन्हें ज्ञापण सौंपा। इसके माध्यम से मुंगेर में स्थित एनसीसी 9 बिहार बटालियन के मुख्यालय का मुंगेर से बेगूसराय स्थानतरण रोके जाने एवं मुंगेर विश्वविद्यालय के लिए जमीन अधिग्रहण की मांग शामिल था। मौके पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रिंस कुमार एवं एसएफएस जिला सहसंयोजक नचिकेता यादव ने उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को मुंगेर में स्थित एनसीसी 9 बिहार बटालियन के स्थानांतरण एवं मुंगेर विश्वविद्यालय के लिए जमीन अधिग्रहण के संबंध में विस्तार पूर्वक जानकारी दी एवं इस मामले में त्वरित कार्रवाई करने की अपील की। इस पर उप मुख्यमंत्री ने सकारात्मक पहल करते हुए कहा कि विद्यार्थी परिषद के मुद्दों को हर संभव सुलझाने का प्रयास करूंगा। मौके पर नगर मंत्री विवेकानंद कुमार, अभिषेक कुमार आतिश, छात्रसंघ कोषाध्यक्ष दिव्यांशु राज, नगर एनसीसी प्रमुख सुनील राज एवं सूरज कुमार आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...