दिशा निर्देश जारी किया:काेराेना संक्रमण काे लेकर हाेगा जनसंख्या आधारित सीराे सर्वेक्षण

मुंगेरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सर्वेक्षण में सरकारी एवं निजी स्वास्थ्य केंद्रों को किया जाएगा शामिल

कोरोना संक्रमण के प्रसार के ट्रेंड को समझने एवं इसकी व्यापकता की निगरानी के मद्देनजर जिले में चयनित जनसंख्या आधारित ‘सीरो-सर्वेक्षण’ को लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय विभाग ने दिशा निर्देश जारी किया है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद आईसीएमआर एवं राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र, राज्य स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर जिलों में ‘सीरो-सर्वेक्षण’ कार्य करेंगे। निगरानी इकाई स्थापित करने के लिए जिले के 10 स्वास्थ्य केन्द्रों में 6 सरकारी एवं 4 निजी स्वास्थ्य केन्द्र शामिल हाेंगे। आईसीएमआर तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग से आंकड़ा मिलने के बाद संक्रमित इलाज के लिए भर्ती किए जाएंगे। इसकी निगरानी के लिए सर्वेक्षण डाटा सरकार के पास भी रहेगा। इसके लिए दो तरह की आबादी समूहों का चयन किया गया है। कम जोखिम वाली आबादी में आउटडोर मरीज एवं गर्भवती महिला तथा अधिक जोखिम वाले आबादी में संक्रमितों की देखभाल एवं उपचार में जुटे स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं।  सीरो-सर्वेक्षण में व्यक्तियों के एक ग्रुप के ब्लड सीरम इकट्ठा कर विभिन्न स्तर पर मॉनिटर किया जाता है। इससे कोरोना वायरस के पैमाने का पता लगा सकते हैं। जिले के अधिक जोखिम वाली आबादी से प्रति सप्ताह 100 से 400 सैंपल लिए जाएंगे। वहीं, कम जोखिम वाली आबादी के आउटडोर मरीजों से प्रति सप्ताह 50 से 100 सैंपल एवं गर्भवती महिलाओं से भी 50 से 100 सैंपल लिए जाएंगे। एक बार में केवल 25 नमूनों की ही जांच हाेगी। नाक एवं गले के आरटी-पीसीआर रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पोलिमीरेज चेन रिएक्शन काे लिए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...