आक्रोश:बकाए वेतन की मांग को ले नहीं हुई शहर की सफाई

मुंगेर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सफाई कर्मियों का कार्य बहिष्कार, शाम में वेतन भुगतान की प्रक्रिया में जुटे प्रभारी नगर आयुक्त

नगर निगम के सफाई कर्मचारी तीन माह के बकाया वेतन भुगतान की मांग को लेकर गुरूवार को भी कार्य बहिष्कार करते हुए सफाई कार्य से खुद को अलग रखा। जिस कारण नवरात्र के पहले दिन शहर की साफ-सफाई नहीं हो पाई। शहर की सड़कों पर जहां तहां पसरे कचरा के ढेर के बीच ही श्रद्धालुओं ने नवरात्र के पहले दिन पूजा अर्चना की। कई दुर्गा मंदिर के समीप भी कचरा पसरा है, कचरा के बीच ही श्रद्धालु पूजा करने दुर्गा मंदिर पहंुच रहे हैं। बता दें कि निगम कार्यालय में पूजा अवकाश 9 अक्टूबर से हो रहा है। जबकि 7 अक्टूबर तक कर्मचारियों को वेतन का भुगतान नहीं हो पाया है। सफाई कर्मचारियों सहित सभी कर्मियों का वेतन जुलाई माह से बकाया है। पूजा के मौके पर भी वेतन का भुगतान नहीं होने के कारण सफाई कर्मियों सहित निगम कार्यालय में आक्रोश है।

नवरात्र के पहले दिन भी नहीं हुई सफाई
उन्होंने पूर्व एकाउंटेंट संजय कुमार सिंहा, आपरेटर मुकेश कुमार, प्रधान लिपिक अशोक कुमार के सहयोग से सभी कर्मियों का वेतन भुगतान सीएफएमएस से कराने के प्रयास में जुटे रहे। महापौर रूमा राज ने बताया कि बुधवार को सर्वर डाउन रहने के कारण सीएफएमएस नहीं हो पाया था। गुरुवार को सर्बर की समस्या ठीक हो गई है, प्रयास किया जा रहा है कि देर शाम तक सभी निगम कर्मियों व सफाई कर्मचारियों का वेतन सीएफएमएस के द्वारा भुगतान करा दिया जाए।

‘जब तक वेतन नहीं तब तक काम नहीं करेंगे’
सफाई कर्मियों का कहना है कि अब काेई आश्वासन या समझौता नहीं, जब वेतन मिलेगा तभी हम लोग काम करेंगे। गुरुवार की दोपहर विधायक ने सफाई कर्मचारी संघ के महामंत्री ब्रहमदेव महतो से सफाई कर्मियों की समस्या जानी। इसके बाद विधायक ने आश्वासन दिया कि डीएम से बात कर सफाई कर्मियों के बकाया वेतन भुगतान कराने का प्रयास करेंगे। गुरुवार की शाम 4 बजे प्रभारी नगर आयुक्त कार्यालय पहुंचे और वेतन भुगतान की प्रक्रिया में जुटे।

खबरें और भी हैं...