कार्यक्रम:स्तनपान से सुंदरता समाप्त होने की बात केवल भ्रांति

मुंगेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीआरएम कॉलेज में जागरूकता को ले कार्यक्रम

विश्व स्तनपान सप्ताह के मौके पर बीआरएम कॉलेज में राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में मुंगेर विश्वविद्यालय के कॉलेज निरीक्षक डा. भवेश चंद्र पांडे शामिल हुए। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कालेज की प्रभारी प्राचार्य डॉ निर्मला गुप्ता ने की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अभय कुमार ने कहा कि स्तनपान किसी दिवस अथवा सप्ताह में सीमित नहीं है। बच्चे के जन्म के साथ ही इसकी शुरुआत हो जाती है। यदि कोई यह कहता है कि स्तनपान से माता की सुंदरता नष्ट हो जाती है, तो यह केवल एक भ्रांति है। सत्य से इसका कोई संबंध नहीं है। ऐसा कहने वाले लोग भावी पीढ़ी को शारीरिक रूप से कमजोर करने का काम करते हैं। श्याम कुमार ने स्तनपान की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शिशु और मां का पहला संबंध स्तनपान से ही आरंभ होता है। बच्चे की सही देखभाल करना तथा उसका संपूर्ण शारीरिक विकास एक मां का परम कर्तव्य है। एक अप्सरा चाहे कितनी भी सुंदर क्यों ना हो लेकिन वह मां की बराबरी नहीं कर सकती है। कार्यक्रम का समापन बीआरएम कॉलेज की एनएसएस की कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ वंदना के धन्यवाद ज्ञापन से किया गया।

खबरें और भी हैं...