पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध:पहाड़ी गांवों से बूथ हटाने पर प्रत्याशियों में नाराजगी, कहा- नहीं लड़ेंगे चुनाव

नौहट्टा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रखण्ड कार्यालय पहुंच कर पिपरडीह पंचायत के उम्मीदवारों ने एकजुटता दिखा विरोध जताया। - Dainik Bhaskar
प्रखण्ड कार्यालय पहुंच कर पिपरडीह पंचायत के उम्मीदवारों ने एकजुटता दिखा विरोध जताया।
  • बूथ स्थानांतरण की सूचना पर प्रत्याशी आक्रोशित, नौहट्टा में की बैठक, कहा- 17 सितंबर को सारे प्रत्याशी नाम वापस लेंगे, पहाड़ी के नीचे ले जाए जा रहे मतदान केंद्र

स्थानीय प्रखण्ड अन्तर्गत कैमूर पहाड़ी के ऊपर बसे पीपरडीह पंचायत के पहाड़ी गांव से प्रशासन द्वारा यदि मतदान केन्द्र बदला गया तो त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में सभी पदों के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने वाले सभी उम्मीदवार सामूहिक रूप से नामांकन पत्र वापस ले लेंगे। यह निर्णय मंगलवार काे पहाड़ी गांव के पंचायत चुनाव नामांकन पत्र दाखिल करने वाले उम्मीदवारों के एक बैठक में लिया है। उल्लेखनीय है कि पहाड़ी गांव में यह संदेश तेजी से फैल गया कि पंचायत चुनाव के लिए कैमूर पहाड़ी के ऊपर बनाये गए सभी दस बूथों को स्थानांतरित कर पहाड़ी गांव से लगभग बीस किमी दूर पहाड़ी के नीचे लाने की सूचना पर दर्जनों प्रत्याशी नौहट्टा प्रखण्ड कार्यालय पहुंच गए। प्रत्याशियों ने प्रखण्ड विकास पदाधिकारी सह प्रखण्ड निर्वाचन पदाधिकारी अनुराग आदित्य से मिलकर अपनी बात रखी और अपना विरोध दर्ज कराया। बीडीओ के जवाब से संतुष्ट नहीं होने पर पहाड़ी गांव के उम्मीदवारों ने प्रखंड मुख्यालय के सामने एक बैठक किया। बैठक में बताया गया कि पहाड़ के सभी बूथों को स्थानांतरित कर पहड़िया डिग्री कालेज भुडवा व चुन्हट्टा कर दिया गया है। परन्तु इसका पुष्टि अधिकृत रूप से किसी अधिकारी ने नहीं किया है। स्थानीय पदाधिकारी राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर कार्य होने का जवाब दे रहे हैं। बैठक के मौके पर निवर्तमान मुखिया श्यामनारायण उरांव, पूर्व मुखिया चंद्रदीप उराँव, रामनाथ उरांव, रामदुलार खरवार, दिनेश उरांव, रामप्रीत उरांव, मंती देवी, रामप्यारे उरांव, दिनेश उरांव, इम्तेयाज खान, रामनाथ एक्का, हरिद्वार सिंह खरवार, लक्ष्मण उरांव, पुतनी देवी, सोनिया देवी, आशा देवी आदि लोग उपस्थित थे।

आज डीएम और एसपी से मिलेंगे, अपनी बात रखेंगे
पिपरडीह पंचायत के उम्मीदवारों के बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि बुधवार को एसपी व डीएम से मिलकर मतदान केन्द्र को यथावत रखने की मांग की जाए। यदि मतदान केन्द्र परिवर्तन किया गया या जवाब से संतुष्ट नहीं किया गया तो 17 सितंबर को सारे प्रत्याशी अपना अपना नामांकन पत्र वापस कर लिया जाएगा। उधर बूथ हटाने के मुद्दे पर अधिकारी कुछ भी कहने से इंकार कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...