पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खतरे में वन संपदा:लकड़ी तस्करों ने वनकर्मियों को लाठी-डंडे से पीटा, पथराव; रेंजर का सिर फोड़ा

नौहट्टा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लकड़ी तस्करी में पुलिस की संलिप्तता की फॉरेस्ट रेंजर ने जताई आशंका

रोहतास वन क्षेत्र से सखुआ की कीमती लकड़ियां काटकर ले जा रहे तस्कर जब तारडीह चेक नाका पर वन विभाग द्वारा पकड़े गए तो रेंजर और वन के कर्मियों पर हमला बोल दिया। सोमवार की रात घटी इस घटना में रोहतास वन क्षेत्र के रेंजर बृजलाल मांझी सहित आधा दर्जन वन कर्मी घायल हो गए। मांझी के सिर में गंभीर चोट आई है। उन्हें इलाज के लिए रोहतास पीएचसी भेजा गया, जहां उनकी मरहम-पट्‌टी की गई। इस हमले के बाद लकड़ियों के तस्कर सखुआ के 11 बोटे लदे ट्रैक्टर छुड़ाकर जंगल में भाग गए। हालांकि जंगल में लकड़ी के बोटे लदी ट्रैक्टर की ट्रॉली छोड़ गए और ट्रैक्टर का इंजन लेकर फरार हो गए। इस घटना में वन विभाग के सिपाही मंटू कुमार, सच्चिदानंद कुमार, उदय कुमार, अवधेश यादव समेत छह वनकर्मी घायल हुए हैं। जिन्हें आंशिक चोटें आई हैं। रेंजर बृजलाल मांझी ने बताया कि तारडीह चेक नाका के समीप वन कर्मियों ने सखुआ के 11 बोटा लदे एक ट्रैक्टर को रोका फिर मुझे सूचना दी। जब मैं वहां पहुंचा तब तक 25 की संख्या में लकड़ी तस्कर जुट गए, जो अचानक हमला बोल दिए। रात होने के कारण अंधेरे का लाभ उठाकर तस्कर ट्रैक्टर व लकड़ी लेकर भागने में सफल रहे, परंतु रास्ते में उनके द्वारा छोड़े गए लकड़ी के सभी बोटे वन विभाग ने बरामद कर लिया है।

रेंजर के पहुंचते ही टूट पड़े लकड़ी तस्कर| तारडीह चेकनाका के वन कर्मियों ने जैसे ही लकड़ी के बोटा से लदे ट्रैक्टर को पकड़े जाने की खबर रेंजर बृजलाल मांझी को दी तो वे थोड़ी देर में ही वहां जा पहुंचे। इधर ट्रैक्टर को छुड़ाने के लिए लकड़ी तस्कर वन कर्मियों के साथ तू तू मैं मैं कर रहे थे। जैसे ही रेंजर को देखा तो कुछ लोग भागने लगे फिर कुछ लोग पीछे से रेंजर सहित वन कर्मियों पर हमला बोल दिया। जब तक वन विभाग की टीम कुछ समझ पाती तब तक 25 -30 की संख्या में जुटे तस्कर उन्हें चारों तरफ से घेरकर ईट पत्थर व लाठी डंडे चलाने लगे।

ताकि लकड़ी के बोटा लदे ट्रैक्टर को लेकर भागने में सफलता मिल सके। वन कर्मियों की संख्या कम थी। इसलिए लकड़ी तस्कर सफल हुए। जिनके पास कुछ अवैध हथियार भी थे। रेंजर बृजलाल मांझी ने बताया कि जंगलों से लकड़ी कटवाकर रोहतास के एक पुलिस कर्मी के इशारे पर मंगाए जाने की आशंका है। जिसका वन कर्मियों ने विरोध किया तो उक्त पुलिस कर्मी के इशारे पर ही यह हमला किया गया। जानकारी हो कि तारडीह के रास्ते अधौरा की तरफ जाने वाली सड़क से प्रतिदिन सौ से ज्यादा ट्रैक्टर अवैध बालू लेकर गुजरते हैं। यह इलाका रोहतास थाना क्षेत्र का है। जहां से दिन रात बालू खनन और चोरी होती रहती है।

ट्रैक्टर लेकर भागने के लिए किया था हमला
वन विभाग की टीम ट्रैक्टर लेकर भाग रहे तस्करों को खदेड़ रही थी। तभी पीछे से दस लोग ईंट पत्थर व लाठी डंडों से हमला बोल दिए। जो यह बताता है कि हमलावर किसी तरह ट्रैक्टर लेकर भागना चाह रहे थे। रात को तीन बजे के आस-पास हुए हमले में लकड़ी तस्करों को पहचानना संभव नहीं था। वन कर्मियों ने जब पलटकर उन्हें खदेड़ा तो वे अंधेरे का लाभ उठाकर भाग निकले। वन कर्मियों की संख्या कम थी, जबकि हमलावर लाठी डंडे व पत्थर चला रहे थे। ऐसे में वनकर्मी कुछ देर के लिए ठिठके तो तस्कर रोहतास रेहल अधाैरा मार्ग से भाग निकले। जबकि हमलावर तारडीह गांव के आस पास जंगलों में जा छुपे। किसी को पकड़ा नहीं जा सका।

सूचना थी कि पुलिसवाले लकड़ी मंगवा रहे
वन विभाग की टीम पर लकड़ी तस्करों द्वारा किए गए हमले में शामिल एक भी आरोपी पकड़ा गया तो बड़े रैकेट के खुलासा होने की संभावना है। रेंजर ने बताया है कि पहले से ही सूचना थी की कुछ पुलिस वाले वन क्षेत्र से कीमती लकड़ियां कटवाकर मंगाएंगे। रेंजर द्वारा दिए गए बयान में सच्चाई सामने आई तो स्थानीय पुलिस के गिरेबान तक भी हाथ जा सकते हैं। उसके बाद वनकर्मियों की टीम ने नाके पर चेकिंग अभियान शुरू किया। रात को लगभग ढाई बजे ट्रैक्टर पर लदे सखुआ के 11 मोटे-मोटे व बड़े टुकड़े के साथ तस्करों की टीम पहुंची तो वन विभाग ने रोका। जिससे बौखलाए तस्कर इस घटना को अंजाम दिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser