पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कालाबाजारी भीखनपुर में क्लीनिक में हुई छापेमारी:10 की दवा 400 में बेची, डाॅ. माेनिका रानी समेत 3 पर केस

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • दलाल पकड़ाया, टीम को झांसा दे दवा दुकानदार हो गया फरार

कोरोनाकाल में दवा की कालाबाजारी जोरों पर है। भीखनपुर गुमटी-2 के पास स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मोनिका रानी की मिलीभगत से उनकी ही क्लीनिक परिसर में चल रही दवा दुकान कृष्णा मेडिको ने एक दलाल से मिलकर 10 रुपए की दवा 400 रुपए में बेच दी। दवा के प्रिंट रेट से 40 गुना ज्यादा की वसूली की शिकायत पर औषधि नियंत्रण विभाग ने डॉ. माेनिका रानी, कृष्णा मेडिको संचालक निखिल कुमार झा और दलाल बांका के बाराहाट निवासी निर्मल सिंह पर इशाकचक थाने में एफआईआर दर्ज कराई है।

विभाग ने मौके से दलाल निर्मल को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दुकानदार निखिल झा फरार हो गया। ड्रग इंस्पेक्टर दयानंद प्रसाद ने बताया, एक मरीज ने ज्यादा वसूली की शिकायत की थी। डीएम सुब्रत कुमार सेन ने डीपीआरओ डीपीआरओ त्रिलोकी नाथ सिंह को मजिस्ट्रेट बनाकर औषधि नियंत्रण विभाग की टीम के साथ भेजा। जितेंद्र कुमार सिन्हा, अनिल कुमार समेत तीन अफसरों की टीम डॉ. मोनिका रानी की क्लीनिक पर पहुंची। यहां मायागंज अस्पताल के मेडिसिन विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर अविलेश कुमार मिले। टीम ने क्लीनिक की अलमारी खोलने को कहा तो उन्होंने बहाना बनाया। बोले-चाबी डॉ. मोनिका के पास है। अभी चाबी नहीं मंगवा सकते, डॉ. मोनिका को कोरोना हुआ है। वे क्वारेंटाइन है। इसके बाद टीम ने दवा दुकान पर जांच की तो कैशमेमो की कॉपी मिल गई। इसमें दुकानदार ने 400 रुपए काटकर 10 रुपए लिख दिया था।

दुकानदार ने कहा था-ब्लैक में खरीदना हाेगा फोर्टबिल इंजेक्शन

ड्रग इंस्पेक्टर दयानंद प्रसाद ने बताया, शिकायत मिली थी कि मायागंज अस्पताल के मेडिसिन विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. अविलेश कुमार के साथ प्रैक्टिस करने वाली उनकी पत्नी डॉ. मोनिका रानी ने दवाइयां लिखीं। उन्हाेंने कृष्णा मेडिको से ही खरीदने को कहा था। दुकान ने फोर्टबिल इंजेक्शन के लिए 400 रुपए लिए, जबकि दवा की कीमत 10 रुपए है। दवा दुकानदार निखिल झा ने कहा, दवा दुकान में नहीं है। बाहर से ब्लैक में खरीदकर लाना हाेगा। इसके बाद उसने दलाल निर्मल सिंह से दवा मंगाकर 5 मिनट में ही दे दी। दुकानदार ने 400 रुपए की रसीद भी दी।

खबरें और भी हैं...